Categories
News

आसमान से खू’न की बारिश: 2 एय’रप्लेन की टक्क’र, खेतों में बि’छी ला’शें ही ला’शें, देखें…

हिंदी खबर

हरिया’णा: ये हकी’कत औ’र बे’हद दर्दना’क हाद’सा, जो आ’ज भी उ’स गां’व वा’लों के जेह’न में जि’न्दा है। ब’ता दें कि 24 सा’ल प’हले हरि’याणा के ए’क गां’व में दो हवा’ई जहा’जों के ह’वा में भीष’ण टक’राव से सन’सनी म’च ग’ई थी। यह ज’गह प’श्चिमी दि’ल्ली से करी’ब 100 किलो’मीटर दू’र है जि’सका ना’म च’र्खी दा’दरी है। स’ऊदी अ’रब एयर’लाइन्स फ्ला’इट 763 और ए’यर क’जाकिस्तान फ्ला’इट 1907 के बी’च य’ह भीष’ण भिड़ं’त से पू’रा दे’श हि’ल उ’ठा था। दो’नों ही प्ले’न में मौ’जूद क्रू औ’र यात्रि’यों की मौ’त हो ग’ई थी औ’र इ’स घ’टना में 349 लो’ग मा’रे ग’ए थे।

मी’टर के बजा’ए फी’ट में नि’र्देश दि’ए थे
गठि’त टी’म द्वा’रा जां’च में सा’मने आ’या था कि कजा’किस्तान के पा’यलट्स उ’स दौ’र में सो’वियत यूनि’यन के सा’थ भी प्ले’न्स उ’ड़ाते थे। सो’वियत मेट्रि’क सि’स्टम का इस्ते’माल कर’ते थे ले’किन न’ई दि’ल्ली में एय’र ट्रैफि’क कं’ट्रोल से जु’ड़े लो’ग इंग्लि’श यू’निट्स का इस्ते’माल क’रते थे। ए’यर ट्रैफि’क ने दो’नों एय’रप्लेन को मीट’र के ब’जाए फी’ट में नि’र्देश दि’ए थे जिस’से ये कंफ्यू’जन हो ग’या था। इ’सके अला’वा कजा’किस्तान के क्रू को इंग्लि’श सम’झने में भी परेशा’नी का साम’ना कर’ना पड़’ता था।