Categories
Other

गैस, कब्ज और एसिडिटी को जड़ से खत्म करने के लिए अपनाएं ये उपाय

दोस्तों, आजकल की स्ट्रेस्ड भरी जिंदगी में लोगों को अपने लिए ज़रा भी वक़्त नही मिलता हैं. इस भागदौड़ भरी जिंदगी में गैस और एसिडिटी जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं. क्या आप जानते हैं की अब सब के लिए आम बात हो गयी हैं. हर किसी को आजकल ये समस्या हैं. इस का मुख्य कारण हैं कि इस स्ट्रेस्ड भरी लाइफ में लोग अपने खान -पान का ध्यान नहीं देते हैं. आज हम आपको एक आसन के बारे बताने जा रहे हैं जो आपको इस समस्या से निजात दिला सकता हैं. इस आसन का नाम हैं पवनमुक्तासन.

पवन का अर्थ है ‘वायु’ और मुक्त का अर्थ है ‘छोड़ना’ ये आसन आपकी आंतों से हवा निकालने में लाभदायक होता हैं. इस आसन को करने से कभी कब्ज की समस्या नहीं होगी और पाचन में सुधार होता हैं ।

पवनमुक्तासन को कैसे करें

पवनमुक्तासन योग को करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं। ये देख ले कि आपकी दोनों हथेलियों का मुख आसमान की तरफ हो। ऐसा करने के बाद आप जिस आसन में आते हैं, उसे शवासन कहा जाता है। अब अपने दाएं पैर को घुटने से मोड़ते हुए घुटने को दोनों हाथों से पकड़कर छाती की ओर लाएं। इसके बाद सिर को जमीन से ऊपर उठाने की कोशिश करते हुए अपनी नाक से घुटने को टच करें ।

आप इस स्थिति में जब तक हो सके बने रहे। थोड़ी देर बाद वापस पहले वाली स्थिति में आ जाएं। ऐसा ही दूसरे पैर के साथ भी करें । इसके बाद इसे दोनों पैरों से एक साथ करें। पवनमुक्तासन योग दिन में 5 से 10 बार रोजाना करने से पेट की समस्या से निजात मिल जाती हैं.

सावधानी ज़रूर बरते

अगर आपको पीठ दर्द हो या कमर में चोट आई हो तो भूल कर भी इस आसन को न करें। इसके अलावा हार्निया और सायटिका के रोगियों को ये आसन नहीं करना चाहिए। महिलाओं को गर्भावस्था में इस आसन को बिलकुल भी नहीं करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.