Categories
breaking news

अहमदाबाद की फैक्टरी में विस्फोट से मरने वालों की संख्या बढ़कर 12 हुई, मोदी बोले- मृतकों के…….

ब्रेकिंग न्यूज़

गुज’रात के अहमदा’बाद शहर के बाह’री इलाके के एक औद्यो’गिक क्षेत्र में स्थित रासा’यनिक फैक्ट’री में बुध’वार को हुआ विस्फो’ट इतना जबर’दस्त था कि बगल में स्थित कपड़े के गो’दाम की इमा’रत भी ढह गई. इधर,

बचाव कार्य करते दमकल कर्मी (फोटो: पीटीआई)

अहम’दाबाद/मुंबई: गुज’रात में एक रासा’यनिक फैक्ट’री में बुधवार सुबह हुए विस्फो’ट से इसका एक हिस्सा ढह गया. धमाका इतना जबर’दस्त था कि फैक्ट’री के बगल में स्थित कप’ड़ों के एक गोदा’म की इमा’रत ढह गई.

इस हाद’से में मरने वालों की सं’ख्या बढ़’कर 12 हो गई है. इनमें पांच महि’लाएं भी शामि’ल हैं. हादसे में नौ लोग घायल हैं.

गुज’रात में हुए हादसे को लेकर अधिका’रियों ने बताया कि अहमदा’बाद शहर के बाहरी इला’के में स्थित एक औद्यो’गिक क्षेत्र, पिराना-पिप’लाज रोड पर स्थित फैक्ट’री में विस्फो’ट हुआ. इसके गोदाम में रासा’यनिक से भरे ड्रम रखे हुए थे.

नौ घंटे तक तला’श और बचाव अभि’यान के दौरान शहर के अग्नि’शमन दल ने मलबे से 12 शवों को निका’ला और नौ अन्य लोगों को बचाया.

अभि’यान रात करीब आठ बज’कर 30 मिनट पर समाप्त हुआ. घायलों को अहमदा’बाद नगर निगम संचा’लित एलजी अस्प’ताल ले जाया गया है.

गोदा’म में सुबह 11 बजे शक्ति’शाली विस्फो’ट की वजह से ढांचे को नुक’सान पहुंचा और पड़ोसी गोदा’मों में आग लग गई, जहां मज’दूर तैयार कपड़ों को पैक कर रहे थे.

दम’कल विभाग के प्रमुख अधि’कारी एमएफ दस्तूर ने कहा, ‘हमारा बचाव अभि’यान समाप्त हो गया. हमने मलबे से 12 शवों को निका’ला. नौ लोगों को जिंदा बचा’या गया. आग पर 30 मिनट के भीत’र काबू पा लिया गया. हमारा अभि’यान मुख्य रूप से मलबे में फंसे लोगों को बाहर निका’लना था.’

उन्होंने बताया कि शाम में रा’ष्ट्रीय आपदा प्रति’क्रिया बल की टीम ने भी काम शुरू किया था.

अधि’कारी ने बताया कि लोगों की मौ’त विस्फो’ट की वजह से हुई है और बाकी क्षति भी इस’की वजह से हुई. आग मा’मूली रूप से ही लगी थी. इमारत विस्फो’ट की वजह से गिरी थी.

रिपो’र्ट के मुता’बिक, रासा’यनिक बॉय’लर की फैक्ट’री शाहिल इंटरप्रा’इजेज में ये विस्फो’ट हुआ था. धमाके के प्र’भाव से उससे सटे कनि’का टैक्सो फैब का गो’दाम भी ढह गया.

कनि’का टैक्सो फैब ने कहा कि ध’माके के दौरान गोदा’म में 30 श्रमिक काम कर रहे थे.

इंडि’यन एक्स’प्रेस से कनि’का टैक्सो फैब कंपनी के मालिक ध्रुव चोपड़ा ने कहा, ‘मैं धमाके की आवाज सुन’कर ही गोदाम की पार्किं’ग में पहुंच गया था. कुछ मिन’टों के लिए मैंने अपने होश खो दिए और किसी तरह एम्बु’लेंस के लिए 108 को फोन किया. बाद में मेरे कार्यक’र्ताओं ने पुलिस और द’मकल विभाग को सूचित किया. मेरे गो’दाम में 30 कर्म’चारी थे जो कपड़ों की पैकिंग कर रहे थे.’

अधिका’रियों के मुता’बिक, 12 मृत श्रमि’कों में से पांच महिलाएं कनि’का टै’क्सो फैब में कार्य’रत थीं, जबकि अन्य शा’हिल एंटरप्रा’इजेज के श्रमिक थे.

उन्होंने बताया कि चार महि’लाओं सहित नौ घा’यलों को आपात’कालीन उपचार के लिए एलजी अस्प’ताल ले जाया गया है, जिनमें से छह की हाल’त गंभीर है.

एलजी अस्प’ताल के सहा’यक चिकि:त्सा अधिकारी डॉ. गो’पाल देसाई ने बताया, ‘अस्प’ताल में लाए गए कुल 22 लोगों में से आठ महि’लाएं और 14 पु’रुष थे, जिनमें से बारह लोगों को मृ’त घो’षित कर दिया गया, जबकि नौ का इलाज चल रहा है.’

इस’की जांच के लिए श्रम और रोज’गार विभाग के अति’रिक्त मुख्य सचिव विपुल मित्रा और गुज’रात प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष संजीव कुमार के साथ दो सद’स्यीय जांच समिति का ग’ठन किया गया है.

गुज’रात के मुख्यमंत्री विजय रूपा’णी ने मृतक के परि’वारों को चार-चार लाख रुपये की राशि मुआ’वजे के रूप में देने की घोष’णा की है.

मुख्य’मंत्री विजय रूपा’णी ने इस घटना पर दुख जताया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘अहम’दाबाद विस्फो’ट त्रासदी की खबर से गह’रा दुख हुआ. अधिका’रियों को जरूरी काम करने के निर्देश दिए हैं. मेरी प्रार्थना सभी प्रभा’वित लोगों के साथ है. जो लोग घायल हुए हैं वे जल्द से जल्द ठीक हो जाएं. मैं दिवंगत आत्मा’ओं के लिए प्रार्थ’ना करता हूं. ओम शांति’

प्रधान’मंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस घट’ना पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने ट्वीट में कहा, ‘अहमदा’बाद के गोदाम में आग लगने से जान’माल के नुक’सान की खबर से मैं व्यथित हूं. मृत’कों को श्रद्धां’जलि और घायलों के शीघ्र स्वा’स्थ्य लाभ की कामना करता हूं. अधि’कारी प्रभावित लोगों को हरसं’भव मदद पहुंचा रहे हैं.’

केंद्रीय गृह’मंत्री अमि’त शाह ने भी घटना पर शोक जताया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘अहम’दाबाद में कपड़ों के गो’दाम में आग लगने की सूचना अत्यंत दुखद है. स्थानीय प्रशा’सन घटना’स्थल पर हरसं’भव सहायता प्रदान करने में जुटा है. इस दुर्घ’टना में जान गंवाने वाले लोगों के परि’जनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घा’यलों के शीघ्र ही स्व’स्थ होने की प्रार्थ’ना करता हूं.’