Categories
News

युवक ने खुद को बनाया किन्नर, पत्नी को दिया तलाक!!जानें क्यों👇

जरा हटकें

जोधपुर की फैमिली कोर्ट में शनिवार को एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां एक युवक ने खुद काे केवल इसलिए किन्नर बना लिया और अपनी पत्नी को तलाक दे दिया। यहां तक कि किन्नर बने युवक के 11 साल का एक बेटा भी है। 

दरअसल, युवक ने उसने शादी के 13 साल बाद यह कदम पारिवारिक कलह के चलते उठाया। वह पारिवारिक कलह व पत्नी के तानों से परेशान हो चुका था। मामले में पति-पत्नी ने आपसी सहमति से तलाक लिया है और कोर्ट ने भी इनका तलाक मंजूर कर लिया है।

युवक जोधपुर शहर के गुलजारपुरा ताजियों का बास निवासी है। उसकी शादी 25 अक्टूबर 2007 को अजमेर के विजयनगर में हुई थी। ये दोनों रिश्ते में मामा-बुआ के बेटे-बेटी हैं। शादी के बाद दोनों के बीच कुछ समय तक सब कुछ ठीक चला। 2009 में बेटे का हुआ। इसके बाद दोनों के बीच मनमुटाव शुरू हो गया।

इस मामले में पति ने पत्नी के अन्य के साथ अफेयर का भी आरोप लगाया है। फिर भी जैसे-तैसे चलता रहा था। दोनों अलग नहीं हुए। घर में रोजाना की बढ़ती कलह के बीच एक दिन युवक ने स्वयं को किन्नर बनवा लिया।

इसके लिए वह पारिवारिक कलह को जिम्मेदार बताता है। उसने परिवाद में लिखा कि उसने रीटा बाई को अपना गुरू बना लिया है। किन्नर समाज में गुरू ही सबकुछ होता है। युवक के किन्नर बनने की बात कुछ समय तक पत्नी को पता ही नहीं चली। बाद में युवक ने उसे यह सच्चाई बता दी। इसके बाद वर्ष 2014 में विवाद ज्यादा बढ़ गया।

युवक ने आरोप लगाया कि पत्नी ताने भी मारती थी, इस वजह से वह परेशान रहता था। वहीं, पत्नी ने भी युवक पर आरोप लगाए हैं। युवक ने वर्ष 2017 को कोर्ट में तलाक की अर्जी भी लगा दी, तब से ही यह मामला अदालत में लंबित था। शनिवार को यह मामला लोक अदालत में सूचीबद्ध हुआ था। 

शनिवार को दोनों कोर्ट पहुंचे, लोक अदालत की बैंच फैमिली कोर्ट के जज महेंद्रकुमार सिंघल व अधिवक्ता दीनदयाल पुरोहित ने दोनों की काउंसलिंग की और उन्हें घंटेभर तक समझाया। फिर दोनों आपसी सहमति से तलाक लेने के लिए राजी हो गए। कोर्ट ने भी तलाक की अर्जी मंजूर करते हुए डिक्री पारित कर दी।