Categories
Other

अजब-गजब मंदिर, कहीं प्रसाद में चढ़ते हैं नूडल्‍स तो कहीं लगता है शराब का भोग

भारत में न जाने कितने मंदिर स्थित हैं और सभी की अपनी अलग मान्यता भी हैं. सभी मंदिरों में श्रद्धालु अलग-अलग तरह का प्रसाद चढ़ाते हैं. आमतौर पर मंदिरों में मिठाई, नारियल और फल आदि प्रसाद के रूप में चढ़ाये जाते हैं लेकिन ये जरुरी नहीं कि हर मंदिर में प्रसाद आम हो, सबमे अलग-अलग होता है. आज हम आपको कुछ ऐसे मंदिर के न्बारे में बता रहे हैं जो अपने प्रसाद के लिए काफी प्रसिद्ध है. इन मंदिरों में चढ़ता हैं प्रसाद के रूप में नूडल्स तो कही शराब.. आइये जानते हैं कौनसे हैं ये मंदिर…

मुथप्पनन मंदिर, कन्नूर (केरल)

इस मंदिर में देवता को प्रसाद के रूप में मछली और शराब की बोतलें चढ़ाई जाती हैं और पूजा होने के बाद भक्तों को प्रसाद के रूप में परोसा जाता है. केरल के इस मंदिर में \ हरे चने और नारियल के टुकड़े भी भक्तों को वितरित किए जाते हैं.

खबीस बाबा मंदिर, सरधना (उत्तर प्रदेश)

आसपास के लोगों का कहना है कि खबीस बाबा शराब के शौकीन थे और वो जो कुछ भी कहते थे वह सच हो जाता था. ये मंदिर ‘खबीस बाबा’ नामक एक संत की याद में लगभग 150 साल पहले बनाया गया था. ऐसा बताया जाता हैं इस संत ने सीतापुर में भगवान शिव की पूजा करते हुए अपना जीवन समर्पित किया था. ऐसा माना जाता है कि खबीस बाबा की मौत सरधना वन में भगवान शिव की पूजा करते हुए हुई थी। इस मंदिर में प्रसाद में शराब चढाई जाती है.

चाइनीज काली मंदिर, कोलकाता (प. बंगाल)

इस मंदिर के नाम से ही आप समझ सकते हैं कि इस मंदिर में देवी को प्रसाद क रूप में चाइनीज नूडल्स, चॉप , चावल और सब्जी चढ़ती है. कोलकाता के टांगरा क्षेत्र जिसे (चाइनाटाउन भी कहा जाता है) में है. यह मंदिर अस्मिता, एकता और स्वीकृति का उत्तम उदाहरण है. दूर दूर से लोग इस मंदिर में दर्शन करने के लिए आते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.