Categories
News

मे’रठ पु’लिस के हा’थ ल’गा अला’दीन के चि’राग वा’ला जि’न्न, दे’खे चौं’का दे’ने वा’ली त’स्वीरें….

वायरल खबर

अला’दीन के चिरा’ग में ब’ड़ी जादु’ई ता’कत है. ऐ’सा हम’ने पंच’तंत्र की कि’ताबों में प’ढ़ा था. उस’में से ए’क जि’न्न निक’लता है औ’र सा’री इ’च्छाओं को पू’रा कर’ता है. औ’र फि’र वो जि’न्न चि’राग में च’ला जा’ता है.  प’र मे’रठ में ऐ’सा जि’न्न निक’ला जो दे’ने के ज’गह लेक’र च’ला ग’या.  इ’स जि’न्न ने इत’ने पै’से ड’कार लि’ए की आ’प सो’च भी न’हीं स’कते. अ’ब फि’ल्मों त’क और टी’वी सीरि’यल त’क तो अला’दीन का चिरा’ग ठी’क था. प’र अ’ब तो ये जि’न्न  स’रे आ’म लो’गों को लू’ट र’हा है.  सोचि’ये ए’क जि’न्न लू’टेरा कै’से ब’न ग’या, जब’कि जि’न्न तो अ’पने मालि’क को खु’श क’रता है.

दरअस’ल ये क’हानी है मे’रठ के ब्रह्म’पुरी था’ना क्षे’त्र की.  ज’हां अ’लादीन के चि’राग के ना’म प’र ठ’गी की ग’ई. लंद’न से पढ़’कर आ’ये डॉ ल’ईक खा’न को ढा’ई करो’ड़ का चु’ना लगा’या ग’या. ल’ईक खा’न ने ए’फआर’एच’एस की प’ढ़ाई है औ’र फि’जिसियन है . डॉ’क्टर सा’हब ने क’हा 2018  में  समी’ना ना’म की महि’ला उ’नके पा’स ऑ’परेशन के लि’ए आ’ई.  इस’के बा’द भी वो क’ई बा’र डॉ’क्टर के पा’स आ’ई. डॉ’क्टर भी अ’क्सर स’मीना के घ’र म’रहम प’ट्टी के लि’ए च’ले जा’ते.

ब’स इ’सी दौ’रान इ’स्लामुद्दीन ना’म के ठ’ग से डॉ’क्टर की मु’लाक़ात हु’ई. जो ये क’हता था की वो जा’दूगर है औ’र उ’सके पा’स अला’दीन का चि’राग है. जि’समें से जि’न्न निक’लता है. औ’र वो डॉ’क्टर को अर’बपति ब’ना दे’गा. उ’सके पा’स इत’ना पै’सा हो’गा की 72 हू’र की प’रियां भी ज’न्नत छो’ड़ क’र ज़’मीन प’र आ जा’ए.  डॉ’क्टर सा’हब भी ब’ड़े खु’श हो ग’ए.  अ’ब फ्री में पै’सा कौ’न न’हीं कमा’ना चाह’ता. डॉ’क्टर सा’हब भी झां’से में फं’स ग’ए.  उन’का कह’ना है कि इस्ला’मुद्दीन घ’र प’र जि’न्न भी प्रक’ट कि’या था.

अ’ब ये जि’न्न है, इत’नी आ’सानी से तो बा’हर आए’गा न’हीं.  इ’स जि’न्न को बा’हर नि’कालने के लि’ए ख़ा’स इ’त्र मंग’वाया जा’ता था जि’सके कीम’त 12 ह’ज़ार रूप’ए की थी. ज’ब डॉ’क्टर को चि’राग और जि’न्न प’र भरो’सा हो ग’या त’ब इस्ला’मुद्दीन ने चि’राग को दे’ने का वा’दा कि’या. ब’स इ’सी वा’दे के च’क्कर में डॉ’क्टर सा’हब पै’सा ख’र्च क’रते ग’ए औ’र फंस’ते ग’ए. ज’ल्दी से अ’मीर बन’ने के ला’लच में वो क’रोड़ों रूप’ए गं’वा बै’ठे.  प’र न चि’राग हा’थ आ’या औ’र न जि’न्न. अ’ब आ’पके म’न में ये भी स’वाल आ र’हा हो’गा की ज’ब चिरा’ग न’कली था तो जि’न्न क’हाँ से निक’लता था. तो हैर’त की बा’त ये है की वो जि’न्न खु’द इस्ला’मुद्दीन ही था औ’र ये स’फीना का प’ति है.

चौ’बे जी च’ले तो थे छ’ब्बे जी बन’ने प’र दु’बे जी ब’न ग’ए. ज’ब डॉ’क्टर को ठ’गी का अह’सास हु’आ.  तो एस’एसपी का’र्यालय में में प’हुंचे. पुलि’स ने माम’ले में संज्ञा’न लि’या औ’र इस्लामु’द्दीन के सा’थ उ’सके सा’थी अनी’स को गि’रफ्तार क’र लि’या. इस’के सा’थ ही जा’दुई चि’राग भी ब’रामद क’र लि’या ग’या. ज’ब इ’स जि’न्न से पू’छा ग’या तो प’ता च’ला की चि’राग के ना’म प’र वो दर्ज’नों लो’गों को ठ’ग चु’का है.  फिल’हाल तो इ’स ठ’गी में शा’मिल महि’ला की त’लाश जा’री है.

तो दे’खा आ’पने कि’स तर’ह से ढों’ग कर’के ए’क प’ढ़े लि’खे डॉ’क्टर को बे’वकूफ बना’या ग’या. ऐ’से जाल’साजों से ब’चिए, औ’र पुलि’स को सम्प’र्क की’जिये.