Categories
News

क’भी चु’नाव नहीं हा’रे अ’मित शा’ह, ऐसे त’य किया का’र्यकर्ता से गृह’मंत्री तक का स’फर देखे अन’देखी त’स्वीरें….

हिंदी खबर

नई दि’ल्ली. कें’द्रीय गृ’ह मं’त्री और भार’तीय जन’ता पा’र्टी के पू’र्व अ’ध्यक्ष अ’मित शा’ह आज 22 अ’क्टूबर को 56 सा’ल के हो ग’ए हैं। कम ही लो’गों को प’ता हो’गा कि अ’मित शा’ह का पू’रा ना’म अमि’त अनि’लचंद्र शा’ह है। राज’नीति में आ’ने से पह’ले वे प्ला’स्टिक पा’इप का पारि’वारिक बिज’नेस सं’भालते थे। शा’ह की शा’दी 1987 में मह’ज 23 सा’ल की उ’म्र में हो ग’ई थी। अ’मित शा’ह की प’त्नी का ना’म सो’नल शा’ह है। उन’का एक बे’टा है जि’सका ना’म ज’य शा’ह है। अपने राजनी’तिक करि’यर में अमि’त शा’ह एक भी चुना’व न’हीं हा’रे। उन’के जन्म’दिन प’र आ’ज हम आ’पको दि’खा रहें हैं ऐ’सी ही कु’छ रे’यर त’स्वीरें। National अमि’त शा’ह की शा’दी 1987 में मह’ज 23 सा’ल की उ’म्र में हो ग’ई थी। उन’की प’त्नी का ना’म सो’नल शा’ह है। सो’नल शा’ह भी एक आ’दर्श प’त्नी के त’रह से ही अप’ने प’ति अमि’त शा’ह का ह’र अ’च्छे बु’रे सम’य में उन’का हमे’शा सा’थ दि’या।

बीजे’पी की अ’पार सफ’लता के पी’छे बीजे’पी के अ’ध्यक्ष अ’मित शा’ह का म’हत्वपूर्ण योग’दान र’हा है। न’रेंद्र मो’दी से पह’ली बा’र 1982 में मि’ले थे। उन दि’नों अहम’दाबाद में कॉ’लेज में पढ़’ते थे। मो’दी उ’स स’मय सं’घ प्र’चारक थे। 1986 में वे भाज’पा में शामि’ल हो ग’ए।

1990 के द’शक में नरें’द्र मो’दी ने आड’वाणी की सोम’नाथ से अ’योध्या र’थ या’त्रा में ब’ड़ी भूमि’का निभा’ई थी।

य’ह त’स्वीर गां’धीनगर की सा’ल 1991 की है। ला’ल कृ’ष्ण आ’डवाणी ने गां’धीनगर सी’ट से प’र्चा भ’रा था। इ’स दौरा’न पी’एम मो’दी और अ’मित शा’ह भी व’हां मौ’जूद थे। अ’मित शा’ह ने इ’स चु’नाव में गांधी’नगर से प्र’चार का जि’म्मा संभा’ला। इ’सके बा’द ज’ब 1996 में अ’टल बिहा’री वाज’पेयी ने गुज’रात से चुना’व ल’ड़ा तो अ’मित शा’ह को ही चु’नाव प्र’चाक की जिम्मेदा’री मि’ली। 

अमि’त शा’ह ने 1997 में गुज’रात की सर’खेज विधा’नसभा सी’ट से उ’प चु’नाव जीत’कर अ’पने राज’नीतिक करि’यर की शु’रुआत की। 1999 में वे अह’मदाबाद डि’स्ट्रिक्ट को ऑ’परेटिव बैं’क (एडी’सीबी) के प्रेसि’डेंट चु’ने ग’ए। 2009 में वे गुज’रात क्रि’केट एसो’सिएशन के उपा’ध्यक्ष बने।

अ’मित शा’ह और सो’नल शा’ह का एक बे’टा है जिस’का ना’म ज’य शा’ह है। ज’य शा’ह की शा’दी रिशि’ता पटे’ल से फ’रवरी 2015 में हु’ई थी।

2014 में न’रेंद्र मो’दी के अ’ध्यक्ष प’द छो’ड़ने के बा’द वे गु’जरात क्रि’केट ए’सोसिएशन के अ’ध्यक्ष ब’ने। 2003 से 2010 त’क उन्हो’ने गुज’रात सर’कार की कै’बिनेट में गृ’ह मंत्रा’लय का जि’म्मा संभा’ला। 2012 में नार’नुपरा से वि’धानसभा चुना’व ल’ड़ने से पह’ले उन्हों’ने ती’न बा’र सर’खेज विधा’न स’भा नि’र्वाचन क्षे’त्र का प्रति’निधित्व कि’या। शा’ह ने अप’ने राज’नीतिक करि’यर में एक भी चु’नाव न’हीं हा’रे।

सोल’हवीं लो’कसभा चुना’व के लग’भग 10 मही’ने पह’ले शा’ह को 12 जू’न 2013 को भार’तीय ज’नता पा’र्टी के उ’त्तर प्र’देश का प्र’भारी बना’या ग’या, त’ब प्र’देश में भा’जपा की मा’त्र 10 लो’क स’भा सी’टें ही थी।

ज’ब 16 म’ई 2014 को सोल’हवीं लोक’सभा के चुना’व परि’णाम आ’ए। भा’जपा ने उ’त्तर प्रदे’श में 71 सी’टें हासि’ल की। प्र’देश में भा’जपा की ये अ’ब त’क की स’बसे ब’ड़ी जी’त ‌थी। जि’सके बा’द अमि’त शा’ह को भा’रतीय ज’नता पा’र्टी का अ’ध्यक्ष ब’ना दि’या। अ’मित शा’ह ने 2019 में गुज’रात की गां’धीनगर सी’ट से चुन’कर संस’द प’हुंचे। 

दूस’री बा’र कें’द्र में भा’री म’तों के सा’थ अप’नी सर’कार बना’ने के बा’द भाज’पा ने 30 म’ई 2019 को अ’मित शा’ह ने गृ’ह मं’त्री प’द की श’पथ ली।