Categories
News

700 कै’दियों के बीच था एक TV, बाहर से आता था खाना, जे’ल में ऐसे क’टे अर्नब के दिन..

खबरें

आ’त्म’ह’त्या के लिए उकसाने के आ’रोप में रि’पब्लि’ट टीवी के ए’डिट’र इन चीफ अर्नब गोस्वामी को मुबंई पु’लिस ने 4 नवंबर को गि’रफ्ता’र किया था। गि’रफ्ता’री के बाद अर्नब गो’स्वामी को तलो’ज सें’ट्रल जेल भी भे’जा गया। इसी जेल में कई दु’र्दांत अप’रा’धी औऱ अं’डर’व’र्ल्ड से जुड़े गैं’ग’स्टर्स भी कै’द हैं। त’लोजा जे’ल को अंड’रव’र्ल्ड का नया अड्डा भी कहा जाता है। अर्नब गोस्वामी को फिलहाल सुप्रीम को’र्ट के आदेश के बाद ज’मान’त पर रि’हा कर दिया गया है।

बेल पर तलोज जे’ल से बाहर आने के बाद अ’र्नब गोस्वामी ने बताया कि जे’ल में बिताए उनके 8 दिन कैसे रहे। अ’र्नब गो’स्वामी ने रि’पब्लि’क भारत पर टे’लीका’स्ट होने वाले शो ‘पूछता है भारत’ में जे’ल की अपनी आ’पबीती सुनाई। अर्न’ब ने बताया कि 8 दिनों  की हि’रास’त के तहत उन्हें दो अलग-अलग जे’लों में रखा गया। पहले अ’लीबा’ग के जिला जे’ल में 2 दिनों के लिए रखा गया और फिर वहां से तलो’जा सें’ट्रल जे’ल शिफ्ट कर दिया गया।

अर्न’ब गो’स्वा’मी ने बताया कि तलो’जा सेंट्र’ल जे’ल में अ’बू स’लेम और अ”बू जिं’दाल जैसे अ’प’राधी भी थे। अ’र्नब ने आ’रोप ल’गाया कि मुंबई पु’लिस वाले अलग-अलग जे’ल में रखकर मुझे तो’ड़ना चाहते थे। लेकिन मैं सं’घर्षों से निकला आदमी हूं इतनी आ’सानी से टू’टने वाला नहीं हूं। मैं जे’ल में और मजबूत हुआ।

अर्न’ब ने बताया कि जे’ल के जिस सेल में वह रहते थे उससे 20 मीटर की दूरी पर एक टीवी लगा हुआ था। यह टी’वी मेरे सिवा 700 अन्य कै’दियों के लिए भी था। ब’कौल अर्नब टीवी पर वह साफ-साफ कुछ देख तो नहीं पाते थे लेकिन टी’वी की आ’वाज उन्हें क्लि’य’र सु’नाई देती थी।