Categories
News

मां ल’क्ष्मी क’भी न’हीं आ’एंगी आ’पके घ’र, अग’र क’रते है ये 5 गल’तियां, जा’निए….

धार्मिक खबर

मां ल’क्ष्मी ध’न की दे’वी है। मां ल’क्ष्मी को प्रस’न्न क’रने के लि’ए क’ई त’रह के उ’पाय कि’ए जा’ते हैं। लेकि’न क’ई बा’र जा’ने-अन’जाने ऐ’सी गल’तियां

हो जा’ती हैं जि’सकी वज’ह से ध’न की दे’वी मां ल’क्ष्मी घ’र में प्र’वेश न’हीं कर’ती। आइ’ए जा’नते हैं जा’ने-अन’जाने में की ग’ई 5 गल’तियों के बा’रे में…

गं’दे कप’ड़े

जो व्य’क्ति गं’दे तरी’के से रह’ता है औ’र ह’मेशा गं’दे कप’ड़े पह’नता है उस’के घ’र से मां ल’क्ष्मी दू’र हो जा’ती हैं।

क्रो’ध

जो व्य’क्ति हमे’शा घ’र में या अप’नों प’र क्रो’ध क’रता है औ’र ल’ड़ाई-झ’गड़ा क’रता है, ध’न की दे’वी ल’क्ष्मी उ’स व्य’क्ति औ’र उ’स घ’र से दू’र च’ली जा’ती हैं।

दी’या

अनादर

जि’न घ’रों में सु’बह औ’र शा’म के स’मय दी’या औ’र आर’ती न’हीं की जा’ती, दे’वी ल’क्ष्मी उ’सके घ’र का त्या’ग क’र दे’ती हैं।

ज’हां प’र गु’रु, सा’धु औ’र शा’स्त्रों का अ’नादर हो’ता है। दे’वी ल’क्ष्मी व’हां अप’ना नि’वास स्था’न क’भी न’हीं ब’नाती।

सू’र्योदय औ’र सू’र्यास्त के स’मय सो’ना

शा’स्त्रों में सू’र्योदय के बा’द औ’र सू’र्यास्त के स’मय सो’ना वर्जि’त मा’ना ग’या है। इ’स स’मय प’र सो’ने प’र दे’वी ल’क्ष्मी ना’राज हो जा’ती हैं।