Categories
Other

आयुष मंत्रालय ने तैयार किया घर बैठे कोरोना से लड़ने का नुस्खा, बेहद जरूरी है आपके लिए जानना

कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया में पैर पसार रखे हैं। इस से लड़के के लिए जहाँ सरकार नए नए तरीक़े अपना रही है वहीं विज्ञान भी तरह-तरह के उपाय ढूंढने में जुटा है. कोरोना वायरस के बीच आयुष मंत्रालय की तरफ से गाइडलान जारी की गई हैं. इसमें कोरोना से लड़ने के उपाय बताए गये हैं। गोल्डन मिल्क और गोल्डन वाटर कोरोना के लिए रामबाण साबित हो रहा है

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान नई दिल्ली (एआईआई) के निदेशक डॉ तनूजा ने बताया कि प्रधानमंत्री ने जिन उपायों की बात की है वह आप घर में भी तैयार कर सकते हैं.

ये हैं कोरोना से बचने की संजीवनी बूटी– (नीम, आंवला, गिलोय, तुलसी , हल्दी, पुदीना, जीरा, अजवायन, काली मुनक्का) डॉक्टर ने कहा कि काढ़ा, नमक, हल्दी पानी से गरारा यह सब कुछ ऐसे उपाय हैं जिससे कि हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता और मजबूत होती है. इसके साथ ही खाने के पहले थोड़ा गुनगुना पानी का प्रयोग करें. यह पाचन शक्ति को काफी मजबूत करता है.

क्या है गोल्डन वाटर और गोल्डन मिल्क

डॉ तनुजा मनोज ने बताया कि घर में आधा ग्लास गुनगुने पानी में थोड़ा नमक और आधा चम्मच हल्दी जब मिलाएंगे तो यह सुनहरे रंग का दिखने लगेगा. इस पानी से सुबह शाम गरारा करने से गले की खरास की समस्या खत्म हो जाती है. चूंकि कोरोना गले पर असर करता है और इससे सूखी खांसी बढ़ जाती है, इसे ध्यान में रखते हुए जरुरी है कि हल्दी पानी से गरारा करें. हल्दी वाला पानी को गोल्डन वोटर कहा गया है।

इसके साथ ही रात को सोने से पहले दूध में हल्दी मिलाकर सेवन करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता और दुरुस्त होती है.इसे गोल्डन मिल्क कहा गया है।

कैसे बनाएं देसी काढ़ा और कितनी बार पिएं

देसी तरीके में हमारे देश में काढ़ा काफी प्रचलित है. लेकिन आयुर्वेद में कई तरह के प्रयोग करने के बाद खास तरीके से तैयार किया गया है.

जिक्र प्रधानमंत्री मोदी ने जिस देशी काढ़े का ज़िक्र अपने संबोधन में किया था. उसे तैयार करने का तरीक़ा। एआईआई के निदेशक ने बताया कि घर में दालचीनी पाउडर आधा चम्मच, गोल मरीच के दो से तीन दाने, दो चुटकी सोंठ, पांच से छह दाने मुनक्का, तुलसी के पांच से छह पत्ते और इसके साथ गुड़ अथवा थोड़े शहद को गरम पानी में उबाला जाता है. इसके दो से तीन मिनट बाद ही उतार लिया जाता है. इसके बाद काढ़ा तैयार हो जाता है. कुछ लोग इसे हरबल टी भी कहते हैं. उन्होंने कहा कि सुबह शाम पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता काफी दुरुस्त होती है.

कैसे नाक में तेल डालकर करें कोरोना से बचाव

ऐसा बताया जा रहा है कि कोरोना मुंह और नाक के माध्यम से शरीर में प्रवेश करता है, ऐसे में जरूरी है कि नाक को प्रोटेक्ट करके रखें. डॉ तनूजा ने बताया कि सरसों के तेल का प्रयोग कोरोना प्रोटेक्टर के तौर पर है, सुबह घर से निकलने से पहले अपने नाक में सरसों के तेल की कुछ बूंदे डालें. यह किसी भी तरह के जीवाणुओं के प्रवेश को रोकता है. सुबह और शाम 2 बार नाक में जरूर तेल डालें. घर में हर रोज शाम में हवन जरूर करें. इससे आपके घर और आसपास का वातावरण शुद्ध होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.