Categories
bollywood

इन बॉली’वुड स्टा’र्स के बच्चों की हुई दर्द’नाक मौ’त, किसी ने खुद को मा’री गो’ली तो कोई……😱

बॉलीवुड न्यूज़

फि’ल्मों की चका’चौंध के पीछे भी एक दुनिया है जिस’से रूब’रू होने का मौका कभी-कभार ही मि’लता है। एक्ट’र्स की निजी जिंद’गी के बारे में तो आप अ’क्सर पढ़ते ही रहते हैं। लेकिन इन्हीं एक्ट’र्स की जिंदगी के कुछ ऐसे अनछुए प’हलू भी हैं जो बस इनके दिल में छिपे हुए हैं। आज आ’पको कुछ ऐसे कला’कारों के बारे में बताते हैं जिन्होंने अपनी आंखों के सा’मने अपने ब’च्चों को मौ’त के मुंह में जाते हुए देखा ले’किन वे उन्हें बचा न सके।

आशा भोसले

आशा भोस’ले ने दो शादि’यां की हैं। पहली शादी से उनके तीन ब’च्चे हुए। दो बेटे और एक बेटी। सबसे बड़े बेटे का नाम हे’मंत था वहीं बेटी का नाम वर्षा था। वर्षा ने स्पो’र्ट्स राइ’टर हेमंत केंकरे से शा’दी की थी, लेकिन 1998 में उनका त’लाक हो गया। इसके बाद वर्षा मुंबई में अपनी मां के साथ ही रहने लगीं थीं। अक्टू’बर 2012 में 56 साल की उम्र में व’र्षा ने खुद को गोली मारकर आ’त्मह’त्या कर ली था। वहीं सबसे बड़े बेटे हेमं’त की मौ’त 66 साल की उम्र में कैं’सर की वजह से साल 2015 में हो गई थी।

जगजीत सिंह

मश’हूर गजल गायक जग’जीत सिंह अब हमारे बीच नहीं हैं। उनकी आवा’ज में लोगों ने हमे’शा छिपे दर्द को महसूस किया। जगजीत सिंह के इक’लौते बेटे विवेक सिंह की साल 1990 में एक कार दुर्घ’टना में मौ’त हो गई थी। बेटे की मौ’त से उन्हें बड़ा सद’मा लगा। इस हादसे के बाद जग’जीत की पत्नी चि’त्रा सिंह पर इत’ना गहरा असर हुआ कि उन्होंने गाना ही छो’ड़ दिया।

शेखर सुमन

अभिनेता शेखर सुमन भी इस दौर से गुजर चुके हैं। करि’यर के एक पड़ाव में शेखर अचा’नक जॉब’लेस हो गए थे। उस दौर में उनकी प’त्नी अलका का काम भी कुछ खास नहीं रहा था। इस बीच उन्हें पता चला कि उनके बड़े बेटे आयु’ष को दिल से संबं’धित कोई बड़ी बी’मारी है। इला’ज के लिए उन्हें ढेर सारे पैसों की जरू’रत थी। लेकिन वे सब कुछ करके भी इतनी बड़ी रकम जु’टा न सके। महज 11 साल की उ’म्र में उन्होंने अपने बेटे को खो दिया।

कबीर वेदी

फि’ल्म अभि’नेता कबीर बेदी की जिंदगी में एक ऐसा लम्हा आया कि वे बुरी तरह टू’ट गए। उनके 26 साल के बेटे सिद्धा’र्थ ने खुद’कुशी कर ली थी। कबीर को पढ़ा’ई के दौरान पता चला कि उनका बेटा डिप्रे’शन में है। डिप्रे’शन बढ़ता गया और आखि’रकार ये सिजो’फ्रेनिया जैसी गंभी’र बीमा’री में बदल गया। उन्होंने बेटे का इलाज कर’वाया ले’किन इस दौरान दी जाने वाली दवाएं उसे उदा’सी की ओर ले गईं। और फिर एक दिन सि’द्धार्थ ने अपनी जिं’दगी ख’त्म कर ली।

महमूद

अपनी कॉमे’डी से सबको हंसाने वाले महमूद भी अपने दिल में दर्द दबा’ए ही इस दुनिया से चले गए। मह’मूद के बेटे मैक अली संगी’त की दु’निया में जगह बनाने का प्रयास कर ही रहे थे तभी उन्हों’ने दुनिया को अल’विदा कह दिया था।