Categories
Other

भारत से अमेरिका भेजी गई दवाई कर गई काम, बदले में भारत को मिलेंगी ये चीजें…

दुनिया भर में कोरोना वायरस का संकट अभी भी जारी है। भारत में भी कोरोना के मरीज़ों की संख्या बढ़ती जा रही है जिसके चलते पीएम मोदी ने ३ मई तक लॉकडाउन की घोषणा की है। बात करें दुनिया की तो इस महामारी का असर सबसे ज़्यादा अमेरिका पर दिख रहा है। पिछले दिनो इस संकट की घड़ी में भारत ने अमेरिका की मदद की थी। उस वक़्त अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा करते हुए कहा था कि वह इस मदद को नहीं भूलेंगे।ट्रम्प की कही गयी बातों का असर दिखना भी शुरू हो गया है।

ट्रंप प्रशासन ने सोमवार को अमेरिकी संसद को इस बारे में सूचना दी कि वह भारत को 155 मिलियन डॉलर के एक सौदे में हारपून ब्लॉक 2 एयर लॉन्च मिसाइल और टॉरपीडो देगा। इस समझौते के तहत भारत को 10 AGM-84L हारपून एयर लॉन्च मिसाइलें 92 मिलियन डॉलर की कीमत कीं, जबकि 16 ML 54 राउंड टॉरपीडो-3 MK 54 एक्ससाइज़ टॉरपीडो 64 मिलियन डॉलर की दी जाएगी।

अमेरिकी रक्षा विभाग की ओर से जानकारी दी गई कि भारत सरकार की ओर से इस बारे में अपील की गई थी, जिसे अब अमेरिका ने मंजूरी दी है।

140416-N-VC599-408 GULF OF OMAN (April 16, 2014) An exercise MK 54 Mod 0 Torpedo is launched from the Arleigh Burke-class guided-missile destroyer USS Roosevelt (DDG 80). Roosevelt is deployed as part of the George H. W. Bush Carrier Strike Group supporting maritime security operations and theater security cooperation efforts in the U.S. 5th fleet area of responsibility. (U.S. Navy Photo by Mass Communication Specialist 2nd Class Justin Wolpert/Released)

पेंटागन के मुताबिक, हारपून मिसाइल सिस्टम की मदद से समुद्री क्षेत्रों में सुरक्षा को बढ़ाया जा सकता है। अमेरिका इसका इस्तेमाल कई मोर्चों पर करता आया है। पेंटागन का कहना है कि भारत इनका इस्तेमाल क्षेत्रीय संकटों से निपटने में किया करेगा, अमेरिका लगातार भारत को समर्थन देता रहेगा।

बता दें, भारत को मिलने वाली हारपून मिसाइल का निर्माण बोइंग के द्वारा किया जाएगा, जबकि टॉरपीडो को रेथियॉन कंपनी के द्वारा दिया जाएगा। पेंटागन की ओर से कहा गया है कि भारत और अमेरिका पिछले लंबे समय से अच्छे दोस्त रहे हैं, सुरक्षा की दृष्टि से भी दोनों देश आगे भी इसी दोस्ती को बढ़ावा देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.