Categories
News

Bihar चु’नाव -: जब रविशंकर प्रसाद को मा’र दी गो’ली, सा’साराम में बीजेपी की वो खू’नी रै’ली….

खबरें

बिहा’र में चुनाव को लेकर सभी पा’र्टियां तै’यारियों में जुटी हैं। को’रोना म’हामा’री की वज’ह से इस बार अलग-अलग पा’र्टियों ने व’र्चु’अल रै’ली पर ज्या’दा जोर दिया। बि’हार चुनाव के ब’हाने आज हम जि’क्र करेंगे बि’हार में हुई एक ऐसी रै’ली कि जिसमें भा’रतीय जन’ता पा’र्टी (BJP) के ‘दिग्ग’ज ने’ता र’वि शं’कर प्र’साद को गो’ली मा’र दी गई। यह सा’ल था 2005। रा’ज्य में रा’ज्यपा’ल शा’सन लागू थी और बूटा सिंह राज्य’पाल थे। उस साल महज 7 महीने के बाद रा’ज्य दूसरी बार चुना’व का साम’ना कर रहा था।

कभी भार’तीय जनता पार्टी के दिग्ग’ज नेता’ओं में शुमार रहे रामेश्वर प्रसाद चौरसिया इस चु’नाव में सासा’राम की नोखा विधानसभा सीट से अपनी किस्म’त आ’जमा रहे थे। म’तदाता’ओं को रा’मेश्वर चौरसिया के प’क्ष में रिझाने के लिए 6 अक्टूबर को बीजेपी नेता प्रमोद म’हाज’न और रवि’शं”कर प्रसाद यहां चु’नाव प्रचार करने पहुंचे थे।

बड़े नेता’ओं के स्वागत के लिए मंच तैया’र था और अन्य चुनावी सभाओं की तरह इस सभा में भी नेता’ओं की क’तार कुर्सी पर आ’सीन थी। मौका मिलते ही रवि’शंक’र प्रसाद ने भी माइक संभाला और अपनी शैली के अनुरुप उन्होंने वहां भाषण दिया। जैसे ही उनका भाष’ण ख’त्म हुआ औऱ रवि’शंक’र प्रसाद ने अपनी कु’र्सी सं’भाली उसी व’क्त रै’ली को सुनने आई भीड़ में से एक श’ख्स हा’थ में देसी क’ट्टा लिए मं’च पर पहुंच गया।

इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता इस शख्स ने रविशंकर प्रसाद को बिल्कुल नजदीक से गो’ली मार दी। गो’ली लगते ही रविशंकर प्र’साद वहीं नि’ढ़ाल हो गए। चारों तरफ अफ’रातफ’री का मा’हौल हो गया और कि’सी को कुछ समझ नहीं आया कि यह क्या हुआ?

मंच पर रामेश्वर चौर’सिया और प्रमोद महा’जन सुरक्षि’त थे। किसी तरह र’विशंक’र प्रसाद को उठाकर अस्पता’ल ले जाया गया। गो’ली उनके बां’ह पर लगी थी और खू’न से सारा मं’च ला’ल हो गया था। इधर भी’ड़ ने बी’जे’पी नेता पर गो’ली चलाने वाले श’ख्स को पकड़ लिया था और उसकी अं’धाधुं’ध पिटा’ई जारी थी।

किसी तरह पु’लिस ने हम’लाव’र को भी’ड़ के चंगुल से छु’ड़ा’कर अ’स्पता’ल में भ’र्ती क’राया ले’किन इ’लाज के दौरान उसकी मौ’त हो गई। रवि’शंक’र प्रसाद को हाथ में गो’ली लगी थी इला’ज के बाद वो सामान्य हो गए। हालांकि इस घट’ना ने बिहार की सि’यास’त को उस वक्त हि’ला कर रख दिया था। यह बात भी बड़ी दि’लचस्प है कि इस घट’ना के बा’वजूद बी’जेपी की राज्य में सर’कार नहीं बनी। इस चु’नाव में किसी भी पा’र्टी को ब’हु’मत नहीं मिला था।