Categories
News

BJP सरकार ने दिया मु’स्लि’मों को एक और बड़ा झटका, नवबंर से फिर बंद होगें इनकें ये संस्थान…

खबरें

अ’सम में रा’ज्य सरकार ने एक बड़ा फै’सला लिया है। सरकार में मंत्री की घो’षणा करते हुए, हिमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि राज्य के सभी सरकारी मदरसे बंद रहेंगे। उन्होंने कहा कि सा’र्वज’नि’क धन से धा’र्मिक शिक्षा देने का कोई प्रा’वधा’न नहीं है, इसलिए सरकारी म’दरसे अब नहीं चलेंगे। इस आ’देश की अ’धिसू’च’ना अग’ले म’हीने जारी की जाएगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गुवाहाटी में प्रेस से बात करते हुए शर्मा ने कहा है कि ‘कोई भी धार्मिक शिक्षा संस्थान सरकारी धन से नहीं चलाया जाएगा। हम इसकी अधिसूचना संख्या जारी करने जा रहे हैं और इसे तुरंत लागू किया जाएगा। हम निजी मदरसों के संचालन के बारे में कुछ नहीं कह सकते।

‘असम सरकार के इस बयान पर ए’आई’यूडी’ए’फ के प्रमुख और लोकसभा सांसद ब’द’रुद्दी’न अ’ज’म’ल ने कहा कि अगर भाजपा की राज्य सरकार ने सरकारी म’दर’सों को बंद कर दिया, तो उनकी सर’कार उन्हें फिर से शुरू करेगी। अगले साल राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं। अगर उनकी पार्टी बहुमत के साथ आती है, तो वे सरकार के सभी बंद म’द’र’सों को फिर से खोल देंगे।

इससे पहले फरवरी में, हिमंत ने घोषणा की कि सरकार न केवल राज्य संचालित मदरसों को बंद करने की तैयारी कर रही है, बल्कि सरकारी संस्कृत विद्यालय भी बंद कर दिए जाएंगे। बाद में उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकारी धन को किसी धर्मनिरपेक्ष देश में किसी भी धार्मिक शिक्षा के लिए खर्च नहीं किया जा सकता है। अब गुरुवार को, मंत्री ने कहा कि संस्कृत शिक्षा का मुद्दा अलग है।