Categories
News

मा’इक पोम्पि’यो की भा’रत यात्रा पर ची’न को लगी मिर्ची, बोला- एशि’या में कलह बोना बंद करो

ब्रेकिंग न्यूज़

Mike Pompeo India Visit: अमे’रिकी विदे’श मं’त्री माइ’क पोम्पि’यो की भार’त या’त्रा से ची’न को ती’खी मि’र्ची लगी है। उसने तो पोम्पि’यो की इस या’त्रा को एशि’या में कल’ह बोने वाला क’रार दिया है। ची’न ने पो’म्पियो से आ’ग्रह कि’या है कि वे क्षेत्र की शां’ति और स्थि’रता को कम करने का प्रया’स कर रहे हैं।

हाइला’इट्स:

  • भार’त और अमे’रिका के बीच रक्षा सं’बंधों के बढ़’ने पर बौख’लाया चीन
  • ची’नी विदे’श मंत्रा’लय ने कहा- पो’म्पियो एशि’या में कल’ह बोना बंद करें
  • भार’त के साथ ब’ड़ा सैन्य सम’झौता कर रहा अमेरि’का, युद्ध में हो’गा फा’यदा
Mike Pompeo 01

बाएं से- मार्क एस्पर, अजीत डोभाल और माइक पोम्पियो’पेइचिंग
अमेरि’की विदे’श मं’त्री माइ’क पोम्पि’यो की भा’रत यात्रा से चीन को तीखी मि’र्ची लगी है। उसने तो पोम्पि’यो की इस या’त्रा को एशि’या में कलह बोने वाला क’रार दिया है। ची’न ने पोम्पि’यो से आ’ग्रह किया है कि वे क्षेत्र की शां’ति और स्थिर’ता को कम करने का प्रया’स कर रहे हैं। बता दें कि अमे’रिकी विदेश मंत्री पो’म्पियो रक्षा मंत्री मार्क एस्पर के साथ भार’त के साथ टू प्ल’स टू डॉय’लाग के लिए उच्च’स्तरीय प्रतिनि’धिमंडल के साथ भा’रत पहुंचे हैं।

पोम्पि’यो के आरो’पों को बता’या आधा’रहीन
ची’नी विदे’श मंत्रा’लय के प्रव’क्ता वांग वेन’बिन ने पोम्पि’यो की या’त्रा पर टिप्प’णी करते हुए कहा कि अमे’रिकी विदे’श मं’त्री के हमले और उनके ची’न के खिला’फ आरो’प कोई नई बात नहीं है। अमेरि’की विदे’श मं’त्री के बयान पर ची’न ने कहा कि वे आधा’रहीन आ’रोप लगा रहे हैं। यह दर्शा’ते हैं कि अमे’रिका अभी भी शीत यु’द्ध की मान’सिकता और वैचा’रिक पूर्वा’ग्रहों से जूझ रहा है।

ची’न ने की शां’ति बना’ए रख’ने की बात
वांग वेन’बिन ने पोम्पि’यो से आ’ग्रह करते हुए कहा कि हम उन’से शीत युद्ध और जी’रो सम गेम मेंटि’लिटी को त्याग’ने और चीन सहित क्षेत्री’य दे’शों के बीच शां’ति और स्थि’रता को का’यम रखने का आग्र’ह करते हैं। हम साथ में यह भी अपी’ल करते हैं कि वे क्षेत्री’य शां’ति को बनाए रखने में मदद करें।

क्या कहा था मा’इक पोम्पि’यो ने
भारत के साथ टू प्ल’स टू डॉय’लाग के बाद साझा प्रेस कां’फ्रेंस में अमेरि’की विदे’श मं’त्री माइक पोम्पि’यो ने कहा कि आज हम वॉर मेमो’रियल गए थे। हमने उन वीर जवा’नों को श्रद्धां’जलि दी, जिन्हों’ने भार’त के लिए अप’नी जान दी। इनमें वो 20 जवा’न भी शामि’ल हैं, जिन्हें गलवा’न में चीन ने मारा था। भार’त अपनी अखंड’ता के लिए खत’रों से लड़ रहा है और हम भार’त के साथ खड़े हैं।

पहले भी ची’न पर निशा’ना साधते रहे हैं पोम्पि’यो

अग’स्त में भी पो’म्पियो ने कहा था कि ची’न पश्चि’मी देशों के लिए ख’तरा है। कुछ माय’नों में शीत यु’द्ध के दौरा’न सोवि:यत सं’घ द्वारा किए गए मुका’बलों से भी बदतर है। अब जो हो रहा है वह शीत युद्ध 2.0 नहीं है। चीनी कम्यु’निस्ट पार्टी की धम’की का विरोध करने की चुनौ:ती कुछ माय’नों में बहुत खतर’नाक है। सीसी’पी पहले ही हमारी अर्थव्य’वस्था’ओं में, हमारी राज’नीति में, सोवि’यत संघ के तरीकों में हमारे समा’जों में पहले से ही लागू है।