Categories
धर्म

चाणक्य नीति: आपका सत्या’नाश कर सकती हैं ये पांच आदतें, तुरंत छोड़ दें…

धर्म समाचार

आचार्य चाण’क्य एक कुशल और योग्य रणनी’तिकार थे। उन्हें कौटि’ल्य और विष्णु गुप्त के नाम से जाना जाता था। व्य’क्ति विशेष और समाज के कल्या’ण के लिए उन्होंने नीति ग्रंथ चाण’क्य नीति शास्त्र की रचना की थी। चाणक्य नीति के अनुसार, इंसान की कुछ बुरी आदतें उसका सत्या’नाश कर सकती हैं। आचार्य चाण’क्य के अनुसार, इन आदतों को तुरंत ही त्या’ग करना जरूरी होता है। 

Chanakya Success Mantra

जो लोग करते हैं छल कपट
चाण’क्य के अनुसार जो लोग छल-कपट या बुरे कार्यों से पैसा कमाते हैं उनके पास ज्यादा देर तक पैसा नहीं टिकता है। ऐसे लोग परेशा’नियों से घिर जाते हैं जिसके कारण जल्द ही उनका पैसा बर्बा’द हो जाता है।

आचार्य चाणक्य

जो लोग सुबह सोते हैं देर तक
जो लोग सुबह से सं’ध्या तक सोए रहते हैं, उनके ऊपर कभी भी मां लक्ष्मी की कृपा नहीं होती है। सूर्योदय के बाद तक सोए रहने वाले व्य’क्ति हमेशा दरि’द्रता का सामना करता है।

आचार्य चाणक्य

जो लोग करते हैं जरूरत से ज्यादा भोजन
जो लोग आव’श्य’कता से अधिक भोजन करते हैं वे दरिद्र हो जाते हैं क्योंकि आव’श्य’कता से अधिक भोजन का उप’भोग करना व्यक्ति को गरीबी की ओर ले जाता है, साथ ही ऐसे व्यक्ति कभी स्व’स्थ भी नहीं रहते हैं।

आचार्य चाणक्य

जो नहीं रखते हैं अपनी वाणी में संयम
जो लोग अपनी वाणी में संयम नहीं रखते हैं या कठोर वाणी बोलते हैं, उनके पास लक्ष्मी जी कभी नहीं रुकती हैं। क्यों’कि किसी दूसरे व्य’क्ति के मन को ठेस पहुं’चाने वाले लोगों से लक्ष्मी जी रुठ जाती हैं। ऐसे लोग गरीब हो जाते हैं।