Categories
Other

आधी रात में CM कमलनाथ को राज्यपाल द्वारा मिला ऐसा निर्देश, जानकर दंग रह जायेंगें

आपको बता दें कि राहुल गांधी के कभी करीबी रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कल होली के दिन कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था, जिनके बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस के 22 विधायकों ने भी पार्टी छोड़ दी थी. वहीं खबरें ये भी आ रही है कि भारतीय जनता पार्टी ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा सदस्य बना चुके हैं. वोही बात करें मुख्यमंत्री कमलनाथ की तो उनकी मुसीबतें कम होने का नाम भी नहीं ले रहे हैं. आइये जानते हैं राज्यपाल के निर्देश के बारे में जो आधी रात को कमलनाथ को मिला हैं.

गौरतलब है कि राजभवन से भेजे गये पत्र में राज्यपाल ने सीएम कमलनाथ को कहा कि मध्यप्रदेश की हाल की घटनाओं से उन्हें प्रथम द्रष्टया प्रतीत होता है कि उनकी सरकार ने सदन का विश्वास खो दिया है. ये सरकार अब अल्पमत में है. उन्होंने कहा ये स्थिति गंभीर है और इएम कमलनाथ 16 मार्च को सदन में बहुमत साबित करें. वहीं सूत्रों के हवाले से ये भी कहा जा रहा है कि कांग्रेस राज्यपाल के इस फ़ैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकती है. आधी रात आयी इस चिट्ठी में लिखा था कि ” मुझे जानकारी मिली है कि 22 विधायकों ने मध्य प्रदेश विधानसभा स्पीकर को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. उन्होंने इलेक्ट्रानिक और प्रिंट मीडिया को भी इसकी जानकारी दी है. मैंने इस बावत मीडिया कवरेज को भी देखा है.”

सिंधिया के इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस के 22 विधायकों और मंत्रियों ने सभी अपना इस्तीफा दे दिया, जिसके चलते कांग्रेस की अब मुश्किलें बढ़ गयी हैं. इन विधायकों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस के पास अब 92 ही विधायक बचे हैं और बीजेपी के पास 107 विधायक हैं. मध्यप्रदेश में चल रहे इस सियासी घटनाक्रम के बीच सूबे के राज्यपाल लालजी टंडन ने सीएम कमलनाथ को लेकर आधी रात को चिट्ठी जारी कर निर्देश दे दिया. उन्होंने कमलनाथ को बहुमत साबित करने के निर्देश दिए हैं. इसी के राज्य में एक बार फिर सियासी सरगर्मी बढ़ गयी है. आधीरात को भेजे गये इस पत्र ने कमलनाथ की और मुश्किलें बढ़ा दी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.