Categories
News

ल’ग्जरी बा’थरूम और सिं’हासन पर बै’ठतें कंप्यूट’र बाबा, आश्र’म सें मिला 10 ट्रक…….

खबरें

क’मलना’थ स’रका’र में कै’बिने’ट मंत्री का द’र्जा प्राप्त ना’मदे’व दा’स त्या’गी उ’र्फ क’म्प्यूटर बाबा के खि’लाफ दूसरे दिन भी का’र्रवाई जारी है। रविवार सुबह इंदौर प्र’शास’न ने उनका  46 एक’ड़ मे बना आ’लीशा’न आ’श्रम पर बु’ल्डोज’र चलाते हुए गि’रा दिया था। अब सोमवार सुबह से ही उनकी अ’वैध सं’पत्ति’यों पर का’र्रवा’ई की जा रही है। इस दौ’रान प्र’शास’न को बाबा के आ’श्रम से 10 ट्रक से ज्यादा सा’मान मिला है। जिसमें म’हंगी-महंगी क्रीमें, बंदु’कें-त’लवा’रें के साथ साथ ल’ग्जरी बै’ड के अलावा सू’टके’स, कि’चन का सा’मान, प’लंग, क’मंड’ल, मा’ला, रजा’ई, गद्दे, टीवी, फ्रीज, एसी, अलमारी, कुर्सियां, पें’टिग्स, फोटो, टेब’ल, बुले’ट, कार, आदि कई सा’मग्री शा’मिल हैं। 

क’म्प्यूट’र बा’बा ने अपने इस आ’श्रम में एक ल’ग्ज’री बा’थरु’म बनाया था। जिस पर प्र’शास’न ने बु’ल्डोज’र चलाते हुए उसे भी गि’रा दिया। इस का’र्रवा’ई के दौ’रान बाबा को इं’दौर के सेंट्र’ल जे’ल भेज दिया है, उनको जे’ल की बै’रक नंबर 5 में रखा है, जहां वे आ’राम से ध्या’न की मु’द्रा में बैठे हैं। बा’बा के 6 सहा’य’कों को भी गि’र’फ्ता’र कर जे’ल में रखा गया है।

ए’सडीए’म अज’य देव शर्मा ने बताया कि  क’म्प्यूट’र बा’बा के अ’वै’ध आ’श्रम के साथ-साथ बा’बा के कई बैं’क अ’काउं’ट होने और उनमें अ’सा’मान्य त’रीके से पैसा ज’मा होने की भी शि’काय’तें मिली हैं। जिनकी जां’च शुरू कर उनके सारे बैं’क खाते सी’ल कर दिए गए हैं। इसके अ’ला’वा अ’वैध क’माई के लिए आ’यक’र वि’भाग की भी मदद ली जा रही है। आ’श्रम से 315 बो’र की बं’दूक, एक ए’यरगन और त’लवा’रें भी मिलीं हैं। जि’नकी जां’च की जा रही है कि बा’बा के पास इनका ला’इसें’स था कि नहीं।

बता दें कि ना’मदेव दा’स त्या’गी के क’म्प्यूटर बा’बा के नाम के पीछे भी कहा’नी बताई जाती है। एक संत स’मारो’ह में नर’सिंहपु’र में मंहत नृ’सिंहदा’स म’हाराज ने 1998 में यह नाम रखा था। उनका कहना था कि  तेज दि’माग, स्मा’र्ट वर्किं’ग व का’र्यशै’ली के कारण उनका नाम क’म्प्यूट’र बा’बा रख दिया। इसके अ’लावा वह अ’क्सर अपने सा’थ लै’पटॉ’प और अन्य गैजे’ट रखते थे।

 क’म्प्यू’टर बा’बा  के अवै’ध आ’श्रम पर दूसरे दिन चली  का’र्रवाई के दौ’रान कई की’मती सामा’न मिला है। यहां एक सिं’हास’न नु’मा कु’र्सी भी मिली है, बताया जाता है कि  क’म्प्यू’टर बा’बा जब भी यहां आते थे इसी सिं’हा’स’न पर बै’ठते थे। 

वहीं इं’दौर के क’ले’क्ट’र म’नीष सिंह ने बताया कि बा’बा का यहां पर अ’वैध क’ब्जा था। दो म’हीने पहले उनको नो’टि’स भी दिया गया था, ले’किन इसे ना तो किसी ने रि’सीव किया और नहीं ज’बाव दिया। ता’रीख निकल जाने के बाद बा’बा के खि’लाफ का’र्रवा’ई शुरू की गई। अब इस ज’मीन पर वा’स्तव में धा’र्मिक रू’प से वि’कसि’त कि’या जाएगा और गो’शाला बनाई जाएगी।