Categories
News

भारत पेट्रोलियम के बाद ये बड़ी कंपनी बेेचेगी मोदी सरकार, जानियें अभी….

खबरें

केंद्र सरकार ने सार्वजनिक उद्यमों में अपना स्वा’मित्व बेचने का फैसला किया है। भारत पेट्रोलियम के बाद यह पता चला है कि वह अब र’क्षा-संबंधित मिश्र धातु निगम लिमिटेड (मिधनी) में 10 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचेगी।

मिहानी रक्षा क्षेत्र, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष क्षेत्र से संबंधित उद्योगों द्वारा आवश्यक स्टील का निर्माण करती है। राज्य के स्वामित्व वाली कंपनी, जिसे 2018 में स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया था, वर्तमान में इसकी कीमत 193 रुपये प्रति शेयर है।

उनके अनुसार अगर सरकार अपनी संपत्ति का 10 प्रतिशत बेचती है तो 360 करोड़ रुपये मिल सकते हैं। केंद्र सरकार ने रक्षा क्षेत्र में 74 प्रतिशत तक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को मंजूरी दी है।

उनके अनुसार अब तक र’क्षा क्षेत्र में लगभग 50000 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। इससे पहले, सरकार को मिधानी के 26 प्रतिशत आईपीओ की बिक्री से 438 करोड़ रुपये मिले थे।

आ’र्थि’क सु’स्ती से निबटने के लिए मो’दी सरकार ने बड़ी पहल की है. वास्तव में मोदी कै’बि’नेट ने आ’र्थिक सु’स्ती से नि’जात पा’ने और रा’जस्व बढ़ाने के लिए स’रका’री कंप’नियों (PSU) में अब तक के सबसे बड़े विनिवेश को मंजूरी दे दी है.

मोदी सरकार ने बुधवार को पांच ब्लू चिप कंपनियों भारत पे’ट्रोलिय’म कॉर्पोरेशन लिमिटेड, शिपिंग कॉ’र्पोरेश’न ऑ’फ इंडि’या और ऑ’नलैंड का’र्गो मूव’र कॉनकोर जैसी PSU में अपनी हि’स्से’दारी कम करने का फै’सला किया है.