Categories
Other

कांग्रेस के पूर्व वरिष्ठ नेता का हुआ निधन, शौक में डूबा देश

केरल के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ नेता पी. शंकरन का मंगलवार रात यानी 25 फ़रवरी को निधन हो गया। पार्टी सूत्रों ने बुधवार की सुबह इस ख़बर की जानकारी देते हुए बताया कि वो पिछले कुछ दिन से बीमार थे और उन्होंने एक निजी हॉस्पिटल में अंतिम साँस ली। अपने विनम्र स्वभाव के लिए चर्चित शंकरन सबके प्रिय थे।

72 साल के शंकरन को कोंग्रेस के वरिष्ठ नेता के. करुणाकरन का करीबी माना जाता था। नेता करुणाकरन ने शंकरन को 1998 में लोकसभा चुनावों में कोझिकोड सीट पर उम्मीदवार बनाया था।बता दें, शंकरन ने सांसद वीरेंद्र कुमार को हराकर यह चुनाव जीता था।

हालांकि 1999 में हुए लोकसभा चुनावों में शंकरन के स्थान पर करुणाकरण के बेटे के. मुरलीधरन को चुनाव लड़ाया गया और इसके बदले उन्हें 2001 में प्रदेश की ए.के. एंटनी सरकार में मंत्री बनाया गया।

मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने शंकरन के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वे आम आदमी से संपर्क बनाए रखने वाले नेता थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.