Categories
News

सि’र्फ एक बा’र को’रोना का टी’का ल’गने से ख’त्म न’हीं हो’गी बी’मारी, 20 सा’लों के लि’ए द’वा की हो’गी….

हिंदी खबर

को’रोना वाय’रस वैक्सी’न की लं’बे व’क्त के लि’ए हो’गी ज’रूरत
कोरो’ना वाय’रस का सं’कट सि’र्फ ए’क बा’र टीका’करण का’र्य़क्रम च’लाने से ख’त्म न’हीं हो’गा। को’रोना की द’वा तै’यार क’रने में जु’टे सी’रम इं’स्टिट्यूट ऑ’फ इंड़ि’या के सी’ईओ अ’दार पूनावा’ला का कह’ना है कि अ’गले 20 सा’लों त’क के लि’ए COVID-19 की द’वा की ज’रूरत हो’गी। उन्हों’ने क’हा कि य’ह व’क्त क’ड़वी स’च्चाई को स्वी’कार क’रने का है। बिज’नेस टु’डे से बा’तचीत में पूना’वाला ने क’हा कि इति’हास में ए’क भी ऐ’सा उदाह’रण न’हीं है, ज’ब कि’सी वैक्सी’न को बं’द कि’या ग’या हो। उन्हों’ने क’हा कि लगा’तार क’ई सा’लों से फ्लू, निमो’निया, खस’रा औ’र पो’लियो त’क द’वाएं च’ली आ र’ही हैं। इन’में से कि’सी को भी बं’द न’हीं कि’या ग’या है।

उन्हों’ने क’हा कि ऐ’सा ही को’रोना वैक्सी’न के सा’थ भी है। पूना’वाला ने क’हा कि य’दि को’रोना वैक्सी’न का 100 प’र्सेंट लेव’ल हा’सिल क’र लि’या जा’ता है, त’ब भी भ’विष्य में इ’सकी ज’रूरत प’ड़ती रहे’गी। उन्हों’ने क’हा कि वैक्सी’न अ’सली ह’ल न’हीं है। य’ह आ’पकी इम्यु’निटी को बू’स्ट कर’ती है औ’र आप’की र’क्षा कर’ती है। इ’ससे बी’मारी का रि’स्क क’म हो जा’ता है, ले’किन आ’प इ’ससे 100 फीस’दी न’हीं ब’च सक’ते।

अ’ब य’दि ह’म बा’त क’रें कि ह’म ज’नसंख्या के ए’क हि’स्से त’क वै’क्सीन दें’गे तो य’ह प’र्याप्त न’हीं हो’गा। य’हां त’क कि 100 फीस’दी टी’काकरण के बा’द भी भ’विष्य में इ’स द’वा की ज’रूरत र’हेगी। खस’रा के टी’के का उदा’हरण दे’ते हु’ए पूना’वाला ने क’हा कि य’ह 95 फी’सदी का’रगर है औ’र सब’से स’फल दवा’ओं में से ए’क है। लेकि’न इस’के बा’द भी नवजा’त शि’शुओं को य’ह द’वा दी जा’ती है।

ब’ता दें कि को’रोना वैक्सी’न को तै’यार क’रने के लि’ए सी’रम इं’स्टिट्यूट बि’ल गे’ट्स फा’उंडेशन के सा’थ मिल’कर का’म क’र र’हा है। सी’रम इं’स्टिट्यूट के मुता’बिक अ’गले सा’ल की शुरुआ’त त’क उस’की ओ’र से कोरो’ना वै’क्सीन बा’जार में उ’तारी जा स’कती है। इ’सके अ’लावा ऑ’क्सफोर्ड यू’निवर्सिटी समे’त तमा’म अ’न्य सं’स्थाएं भी को’रोना की द’वा को तैया’र क’रने में जु’टी हैं। रू’स ने को’रोना वैक्सी’न तैयार करने का दावा किया है, लेकिन विश्व स्वास्थ्य संग’ठन स’मेत तमा’म वै’श्विक संस्था’नों ने उ’से मा’न्यता न’हीं दी है।