Categories
News

12 अगस्त को होने जा रही दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन रजिस्टर, जानिए किन लोगों को दी जाएगी सबसे पहले……

खबरें

दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। इस महामारी से छुटकारा दिलाने के लिए भारत सहित कई देश वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनियाभर में करीब 21 से ज्यादा वैक्सीन क्लिनिकल ट्रायल तक पहुंच चुकी है। लेकिन रूस दुनिया की पहली कोविड-19 वैक्सीन लेकर आ रहा है। रूस के दावा के अनुसार 12 अगस्त को वह पहली वैक्सीन रिजस्टर्ड कराने के लिए बिल्कुल तैयार है। इस वैक्सीन को  रूसी स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़ी एक संस्था गमलेया रिसर्च इंस्टीट्यूट द्वारा विकसित किया गया है। हालांकि यह वैक्सीन उम्मीदों में कितनी खरी उतरेगी ये तो बाद में पता चलेगा। 

आपको बता दें कि रूसी वैक्सीन का ट्रायल फिलहाल दो केंद्रों पर चल रहा है पहला बर्डेनको मेन मिलिट्री क्लीनिकल हॉस्पिटल और दूसरा सेचेनोव फर्स्ट मॉस्को मेडिकल मेडिकल यूनिवर्सिटी।

रूस के अप स्वास्थ्य मंत्री ओलेग ग्रिडनेव के अनुसार,  इस समय वैक्सीन का अंतिम ट्रायल चल रहा है और बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है। हमें यह समझना होगा कि वैक्सीन खुद भी सुरक्षित होनी चाहिए। इस वैक्सीन को चिकित्सा पेशेवरों द्वारा लॉन्च किया जाएगा और वरिष्ठ नागरिक टीकाकरण कराने वाले पहले व्यक्ति होंगे।’

वहीं रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराश्को ने कहा, ‘यह वैक्सीन ट्रायल में सफल रही है और अक्तूबर महीने से देश में बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान शुरू किया जाएगा। इसके साथ ही अपने देश के नागरिकों के लिए तके ऊपर बोझ न पड़े इसके लिए इस टीकाकरण अभियान में आने वाला पूरा खर्च सरकार ही उठाएगी। ‘

रूसी वैक्सीन के बारे में वपिश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि वैक्सीन बनाने वाली हर कंपनी को किसी भी कोविड-19 वैक्सीन को लॉन्च करने से पहले ट्रायल के सभी स्टेज से गुजरना होगा। इस बारे में डब्ल्यूएचओ के प्रवक्ता क्रिश्चियन लिंडमियर का कहना है कि इस उद्देश्य के लिए किसी भी वैक्सीन को लॉन्च करने से पहले लाइसेंस की जरूरत होगी और उसके लिए सभी वैक्सीन को विभिन्न परीक्षणों और चरणों से गुजरना होगा।