Categories
Other

कोरोना वायरस के कारण चीन से अपने सारे रिश्तें खत्म कर रहा हैं ये बड़ा देश

देश में कोरोना वायरस के मामलों तेजी से बढ़ रहे है. आपको बता दें कि अब तक मरीजों की संख्या पांच हजार के पार पहुंच चुकी है. अब तक देश में इसके 5734 केस सामने आ चुके हैं. वहीं 166 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. साथ ही बता दें कि 401 लोग इलाज के बाद रिकवर भी हो चुके हैं. आपको बता दें कि देश में सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आ रहे हैं.देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. आपको तो पता ही हैं सबसे पहले ये वायरस चीन के एक शहर से निकला हैं.

टोक्यो तकनीक की दुनिया का बेताज बादशाह जापान अपनी कंपनियों का ऑपरेशन चीन से शिफ्ट करने की तैयारी में है। वैश्विक महामारी कोरोनावायरस की वजह से जापान लगातार इस बात पर लंबे वक्त से विचार कर रहा था और अब उसने फैसला लिया है कि वह अपनी कंपनियों को चीन से बाहर ऑपरेशनल होने के लिए शिफ्ट करवाएगा। जापान सरकार ने आर्थिक राहत पैकेज में इसके लिए 2.2 अरब डॉलर यानी कि करीब 16786 करोड रुपए निर्धारित किए हैं.जापान के मुताबिक कोरोनावायरस इन दोनों प्रमुख व्यापारिक भागीदारों के बीच सप्लाई चेन को बाधित करने का काम कर रहा है। इसके लिए अतिरिक्त बजट की घोषणा जापान ने की है।

बता दें जापान सरकार चीन में बिगड़ती परिस्थितियों के बीच अपनी कंपनियों का चीन के बाजार से बाहर ऑपरेशन शुरू करने के लिए यह रकम खर्च करने वाली है। गौरतलब है कि जापान चाहता है उसकी कंपनियां अपना मैन्युफैक्चरिंग यूनिट चीन के बाहर लेकर जाएं और किसी अन्य देश में लगाएं या फिर जापान में लगाएं।इसीलिए कोरोनावायरस संक्रमण काल के बीच जापान ने अपने रिकॉर्ड आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज में 2.2 बिलियन डॉलर का निवेश करने का फैसला किया है, ताकि उसके देश के निर्माताओं को चीन से उत्पादन को स्थानांतरित करने में मदद मिल सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published.