Categories
News

हा’य ये कै’सा न’शा: बि’ना पि’ए इ’स ची’ज को खा’ने से च’ड़ जा’एगा शरा’ब से भी ज्या’दा न’शा, ची’ज का ना’म जान’कर र’ह जा’एंगे…

हिंदी खबर

वॉशिं’गटन. अमे’रिका में ए’क श’ख्स के सा’थ अजी’बोगरीब घ’टना हो’ती है। 62 सा’ल के नि’क का’र्स ए’क डिसऑ’र्डर से जू’झ र’हे हैं। इ’सके चल’ते उ’न्हें शरा’ब पी’ने से ज्या’दा न’शा हो जा’ता है। दरअस’ल, वो श’ख्स नि’क ऑ’टो ब्रूवे’री सिं’ड्रोम से ग्र’स्त है। वो ज’ब भी के’क या कार्बो’हाइड्रेट्’स से भरपू’र को’ई ची’ज खा’ते हैं तो उ’न्हें शरा’ब से ज्या’दा न’शा हो जा’ता है। इ’न ची’जों को खा’ने के बा’द ऐ’सा ल’गता है कि मा’नो उन्हों’ने ब’हुत अधि’क श’राब पी ली है

क’हा जा र’हा है कि वो के’क खा’ने के बा’द लीग’ल ड्राइ’विंग लि’मिट से बा’हर हो जा’ते हैं। रि’पोर्ट्स की मा’नें तो क’हा जा र’हा है कि आ’ज से 20 सा’ल प’हले नि’क का’फी स्ट्रॉ’न्ग केमि’कल्स से एक्स’पोज हु’ए थे, जिस’के च’लते उन’में ये कं’डीशन पै’दा हो’ने ल’गी थी। 

क’हा जा’ता है कि नि’क को अ’पने सा’थ ए’क ब्रे’थ एनाला’इजर ले’कर चल’ना प’ड़ता है क्यों’कि उ’न्हें न’हीं प’ता कि वो क’ब न’शे में हो सक’ते हैं। सि’र्फ के’क ही न’हीं ब’ल्कि थो’ड़ा सा भी शु’गर या का’र्बोहाएड्रेट्स ले’ने प’र भी वे का’फी न’शे में हो जा’ते हैं। 

इ’सी वज’ह से वो की’टो डाइ’ट ले’ने की कोशि’श क’रते हैं। इ’स डा’इट में बता’या जा’ता है कि कार्बो’हाएड्रेट्स की मा’त्रा का’फी क’म औ’र प्रोटी’न औ’र फै’ट्स की मा’त्रा अधि’क हो’ती है। 

नि’क ने ए’क इं’टरव्यू में क’हा था कि क’भी-क’भी लो’ग उ’नके हाला’तों का का’फी मजा’क उड़ा’ते हैं क्यों’कि उ’न्हे लग’ता है कि उ’न्हें ड्रिं’क्स के लि’ए जा’ना का’फी स’स्ता प’ड़ेगा क्यों’कि वो बि’ना पी’ए ही सि’र्फ खा’ना खा’कर ही न’शे में हो जा’ते हैं, लेकि’न ये उ’नके लि’ए अ’च्छा न’हीं है। वो इ’स सम’स्या के च’लते अप’ने क’ई पसंदी’दा फू’ड्स को खा न’हीं पा’ते हैं। 

हा’लांकि, नि’क अ’पनी इ’स परे’शानी का का’फी हि’म्मत से साम’ना क’र र’हे हैं। उन्हों’ने क’हा था कि ‘वो अ’पनी बॉ’डी में अ’च्छे बैक्टी’रिया को डेव’लप क’रने की को’शिश क’र र’हे हैं औ’र पू’री तर’ह से नैचुर’ल हो’ने की को’शिश क’र र’हे हैं। 

क्यों’कि अ’ब उ’न्हें इ’स हा’लात के बा’रे में का’फी जान’कारी है तो उ’नके लि’ए इ’से मै’नेज क’रना थो’ड़ा आ’सान हो ग’या है। हालां’कि इ’स कंडि’शन के चल’ते वो क’ई बा’र के खा’ने के लि’ए त’रस जा’ते हैं।’