Categories
News

क्रिकेटरों पर आ’तं’की ह’मला: स्टेडियम पहुंचने से पहले बस पर अ’टैक, सबसे बड़ी घ’टना….

खबरें

मार्च क्रिकेट की दुनिया में ये बहुत यादगार और काला दिन था। साल 2009 में टेस्ट क्रिकेट के तीसरे दिन सुबह के समय खेल खेलने के लिए स्टेडियम की तरफ जा रही थी। तभी खिलाड़ियों से भरी बस अपनी राह स्टेडियम तक पहुंचने ही वाली थी, कुछ ऐसा हुआ जिसे इतिहास का का’ला अध्याय रच गया। आज से 12 साल पहले 3 मार्च को जब पा’कि’स्ता’न दौरे पर गई श्रीलंकाई टीम पर आ’तं’कियों ने ला’हौर के ग’द्दाफी स्‍टेडियम पर जा’नले’वा ह’मला किया। इस ह’म’ले से पूरी दुनिया में शो’क था। इसके बाद से ही पा’कि’स्‍ता’न आने वाले कई सालों तक अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट की मेजबानी करने को तरस गया।

बस पर ह’मला
साल 2009 में ये सीरीज का दूसरा टेस्‍ट मैच था। इस मैच के लिए तीसरे दिन सुबह श्रीलंकाई टीम बस के जरिये होटल से ग’द्दाफी स्‍टेडियम के लिए निकली थी। उसी समय न’काबपो’श आ’तंकि’यों ने बस पर ह’म’ला कर दिया और ता’बड़तो’ड़ फा’यरिं’ग होने लगी। बस ड्राइवर की समझबूझ से किसी तरह श्रीलंकाई क्रिकेटर बच निकलने में कामयाब रहे। लेकिन इस ह’म’ले के दौरान टीम के कप्‍तान महेला जयवर्धने, दिग्‍गज विकेटकीपर बल्‍लेबाज कुमार संगकारा, अजंता मेंडिस, थिलन समरवीरा और थरंगा परावितारना ज’ख्‍मी हो गए। ये ह’म’ला इतना ज्यादा भ’या’वह था कि 6 सुर’क्षाक’र्मियों और दो सिविलियन समेत कुल 8 लोगों को अपनी जा’न से हाथ धोना पड़ा।

ह’मले को आ’तंकी सं’ग’ठन ल’श्‍क’र-ए-झां’गवी
ऐसे में ह’म’ले को लेकर बाद में इस तरह की खबरें सामने आई कि इस हमले को आ’तं’की सं’गठ’न ल’श्‍क’र-ए-झां’ग’वी ने अं’जा’म दिया है। अगस्‍त 2016 में इस ह’मले में शामिल रहे तीन आ’तं’कि’यों को ला’हौ’र में पु’लि’स ने मा’र गिराया। फिर इसके बाद अक्‍टूबर में इस ह’मले का मा’स्‍टरमाइं’ड एक मि’लिट्री ऑ’परेशन के दौ’रान ई’स्‍टर्न अफ’गा’निस्‍ता’न में मा’रा गया। क्रिकेट टीम पर इस हमले के बाद दौरा बीच में छोड़कर श्रीलंकाई टीम ने दिसंबर 2019 में फिर से पा’कि’स्‍ता’न का दौ’रा किया और दो टे’स्‍ट मैचों की इस सीरीज का पा’कि’स्‍तान में आ’तं’की ह’मले के बाद क्रिकेट की वापसी के तौर पर याद किया गया।