Categories
Other

5 अप्रैल को दीया जलाते समय भूलकर भी न करें ये गलती, जा सकती है जा’न

कोरोना वायरस से निपेटने के लिए पूरा देश पीएम मोदी की हर अपील को अमल कर रहा है। आज यानी ५ अप्रैल को भी पीएम मोदी ने दीया, मोमबत्ती और टॉर्च जलाने के लिए बोला है। अगर आप भी पीएम की इस अपील पर अमल करने की सोच रहें हैं तो दिया या मोमबत्ती जलाते समय एक बात का ध्यान ज़रूर रखें नहीं तो आपको बुरा परिणाम भुगतना पड़ सकता है।

अगर आप सोच रहे हैं कि घरों की बालकनी में खड़े होकर साफ सफाई के साथ सेनेटाइजर का इस्तेमाल करके मोमबत्ती या दीया जलाएँगे तो पहले डॉक्टर और इंडियन आर्मी द्वारा जारी एडवाइजरी पर थोड़ा गौर कर लें इसकी अनदेखी करने पर आपकी जान आफत में पड़ सकती हैं। आइए आपको बताते हैं कैसे ?

हाल ही में एक ख़बर आयी थी कि हरियाणा में एक व्यक्ति रसोई में रखे सामान को अल्कोहोल आधारित सेनेटाइजर से साफ करने के दौरान गलती से आग के संपर्क में आ गया जिसकी वजह से वो 35 प्रतिशत तक झुलस गया था।

चालीस वर्षीय पीड़ित ने अपने बयान में पुलिस को बताया कि वो अपने घरेलू सामानों को सैनिटाइजर से साफ कर रहा था उसी समय उसकी पत्नी भी वहां खाना बना रही थी अचानक कुर्ते पर थोड़ा सेनेटाइजर गिर गया जिससे खाना पकाने वाली गैस से उसमें आग लग गई।

भारतीय सेना ने पीएम मोदी की अपील के बाद एक एडवाइजरी जारी करते हुए देशवासियों को दीप जलाने से पहले कुछ सावधानियां बरतने के लिए कहा है। भारतीय सेना ने कहा कि ‘रविवार को बालकनी या दरवाजे पर दीप या मोमबत्ती जलाने से पहले अपने हाथों को धोने के लिए साबुन का उपयोग करें, दीप या मोमबत्ती जलाने से पहले सैनिटाइजर का इस्तेमाल न करें क्योंकि इसमें अल्कोहल की मात्रा अधिक होती है’।

Leave a Reply

Your email address will not be published.