Categories
News

मुंगे’र में दु’र्गा विस’र्जन के दौ’रान फाय’रिंग, एक की मौ’त, कई घा’यल, फाय’रिंग में इस ने’ता का हाथ.

ब्रेकिंग न्यूज़

मुंगेर में दुर्गा विसर्जन के दौरान पत्थरबाजी और फायरिंग, एक की मौत, कई घायल

शह’र के दीन दया’ल चौक पर बद’माशों द्वारा फा’यरिंग और पत्थ’रबाजी की घट’ना को अंजा’म दिया गया जिस’में आधा दर्ज’न से अधिक लो’गों को गो’ली लगी है और कई लो’ग घाय’ल हो गए हैं.

मुं’गेरबि’हार चुना’व के बीच मुं’गेर जिले में दु’र्गा विस’र्जन के दौरान हिं’सक वार’दात हुई है. शह’र के दीन दया’ल चौक पर बद’माशों द्वारा फाय’रिंग और पत्थर’बाजी की घट’ना को अंजा’म दिया गया जिसमें आधा दर्ज’न से अधिक लो’गों को गो’ली लगी है और कई घा’यल हो गए हैं. 

वहीं, इस घट’ना में एक युव’क की मौ’त भी हो गई है और दूसरे युव’क को भाग’लपुर रेफ’र किया गया है. आक्रो’शित लोगों का आ’रोप है कि पु’लिस प्रसा’शन ने बेगु’नाहों पर गो’ली चला’ई है. आपको बता दें कि चुना’व के मद्देन’जर जि’ला प्रशा’सन और पु’लिस प्रसाश’न ने पूजा समि’तियों को 26 अक्टू’बर की शाम तक प्रति’माओं का विस’र्जन कर लेने का निर्दे’श दिया था.

26 अक्टू’बर की शा’म जब पु’लिस ने पूजा समि’तियों से जल्द से जल्द विस’र्जन की बात कही तो पु’लिस और पूजा समि’तियों के बी’च पथर’बाजी और गोली’बारी शुरू हो गई. मृत’क के प’रिजनों और लोगों के अनु’सार मुंगे’र पुलि’स ने जान बूझ’कर गो’ली चलाई है. उनका कहना है कि जब पु’लिस प्रसा’शन को चुना’व ही कराना है तो विस’र्जन चु’नाव के बाद कर’वाती. 

वहीं, सद’र अस्तप’ताल के उपाधी’क्षक डॉ निरं’जन कुमा’र के अनु’सार डेढ़ दर्ज’न लोग गं’भीर रूप से घाय’ल आए जिस’में आ’धा द’र्जन से अधि’क लोगों को गो’ली लगी है. उन्होंने कहा कि जि’समें एक की मौ’त हो चु’की है. एक गं’भीर रूप से घा’यल ब’च्चे को बेह’तर इला’ज के भाग’लपुर रेफ’र कर दिया है.

दरअ’सल, दु’र्गा पू’जा के विस’र्जन को लेकर डी’एम-एस’पी ने कई दु’र्गा पू’जा समि’तियों के साथ बैठ’क की थी. वहीं, पूजा समि’तियों ने प्रसा’शन से आग्र’ह किया की चुना’व के बाद दु’र्गा का वि’सर्जन करेंगे लेकिन मुं’गेर पुलि’स व जि’ला प्रसा’शन ने सभी पू’जा समि’तियों को आ’देश दिया वो 26 अक्टू’बर तक दु’र्गा पू’जा का विस’र्जन कर लें.

लेकि’न जिले में ब’ड़ी देवी दु’र्गा जिनकी धा’र्मिक मान्य’ता है, वहां प्रति’मा का विस’र्जन भव्य तरी’के से होता है. मां की प्रति’मा को 32 लोग कं’धे पर उ’ठाते हैं. वहीं, श’हर में मान्य’ता है कि बड़ी दु’र्गा के विस’र्जन के बाद ही अन्य प्रति’माओं का विस’र्जन होता है. ये परंप’रा सदि’यों से चली आ रही थी