Categories
News

पी’एम मो’दी इम’रान खा’न और जिन’पिंग ती’नों ही इ’स ता’रीख को हों’गे आम’ने सा’मने, होगा ब’ड़ा…..

हिंदी खबर

नई दि’ल्ली: ची’न और पाकि’स्तान के सा’थ च’ल रहे त’नाव के बी’च आ’ज भार’त से ए’क ब’ड़ी ख’बर साम’ने आ’ई है। प्रधा’नममंत्री न’रेंद्र मो’दी की इ’न दो’नों दे’शों के प्र’मुख नेता’ओं से ज’ल्द ही मुला’कात हो सक’ती है।

प्रा’प्त जा’नकारी के अनु’सार य’ह मुला’कात ‘शं’घाई सह’योग सं’गठन’ (एस’सीओ) शि’खर सम्मेल’न के दौ’रान हो स’कती है। इ’स बा’र एस’सीओ शि’खर सम्मे’लन की मेज’बानी का जि’म्मा रू’स को सौं’पा ग’या है। एस’सीओ शि’खर सम्मेल’न का आयो’जन 10 न’वंबर को वर्चु’अल मा’ध्यम से कि’या जा’एगा।

भार’त की तर’फ से खु’द प्रधा’नमंत्री नरें’द्र मो’दी, ची’न की तर’फ से राष्ट्र’पति शी जिन’पिंग और पा’किस्तान की तर’फ से व’हां के प्रधा’नमंत्री इमरा’न खा’न भी शामि’ल हों’गे।

भार’त के पी’एम नरें’द्र मो’दी और पा’किस्तान के पी’एम इम’रान खा’न की फो’टो(सो’शल मी’डिया)

भा’रत के लि’ए क्यों अह’म है एससी’ओ शिख’र सम्मे’लन

ऐ’से में अ’भी से उम्मी’द ल’गाई जा रही है कि इ’स सम्मे’लन में पी’एम मो’दी की मुला’कात जि’नपिंग औ’र इम’रान दो’नों से हो सक’ती है।  य’हां ये भी जान’ना ज’रूरी है कि एस’सीओ शि’खर सम्मेल’न भार’त के लि’ए बेह’द ही अह’म सा’बित हो’ने जा र’हा है।

क्यों’कि सुर’क्षा और अ’न्य राज’नीतिक मु’द्दों प’र अपना ध्या’न कें’द्रित करने के सा’थ-सा’थ आतं’कवाद जै’से मु’द्दों प’र दु’निया के साम’ने अपनी बा’त रख’ने का एक ब’ढ़िया मौ’क़ा मि’ल रहा है। भा’रत इ’स मं’च का इस्ते’माल ची’न और पा’किस्तान को बेन’काब क’र स’कता है।

ब’ताया जा र’हा है कि म’ई मही’ने से सी’मा प’र जा’री तना’व के बी’च इ’स शि’खर सम्मेल’न में पह’ली बा’र प्रधा’नमंत्री नरें’द्र मो’दी और ची’न के राष्ट्र’पति शी जिन’पिंग एक दूस’रे से मुखा’तिब हों’गे।

ची’न के राष्ट्र’पति शी जि”नपिंग की फो’टो(सो’शल मीडि’या)

बी’ते दि’नों ही ची’न ने दी थी भा’रत को धम’की

य’हां ये भी ब’ता दें कि बी’ते दि’नों ची’न ने भा’रत को धम’की दे’ते हु’ए क’हा था कि य’दि भार’तीय शक्ति_यां ताइ’वान को ले’कर खे’लती हैं तो ची’न पू’र्वोत्तर को भा’रत से अ’लग क’रने की कार्र’वाई क’र सक’ता है।

गौर’तलब है कि ची’न का’फी स’मय से ताइ’वान प’र अप’ना दा’वा कर’ता आ’या है और ताइ’वान का सम’र्थन कर’ने वा’ले दूस’रे दे’शों को धम’की दे’ता रह’ता है।

इ’सी क’ड़ी में उ’सने इ’स बा’र भार’त को ताइ’वान का सम’र्थन क’रने प’र धम’की दी है। ये धम’की उस’ने ची’न सर’कार के मु’खपत्र ग्लोब’ल टा’इम्स में छ’पे ए’क ले’ख के ज’रिये दी है।