Categories
News

सिद्धार्थ ने ‘संजना’ बन रवि से की दोस्ती, शनि दोष उतरवाने के लियें नर्मदा की करवाई 10000 परिक्रमा !! 3 साल बाद…👇

खबरें

यह कहानी फिल्मी नहीं, असली है। मध्य प्रदेश के हरदा जिले के रहने वाले सिद्धार्थ पटेल ने फेसबुक पर संजना बन जोधपुर (राजस्थान) के रवि इनाणिया से तीन साल पहले दोस्ती की। उसने खुद को दिल्ली की संजना बताया। वह लड़की की आवाज में ही बात करता। असल में वह संजना नहीं सिद्धार्थ था।


सिद्धार्थ ने रवि को पहला मैसेज हाय का किया। दो अक्षर के इस हाय से दोनों की दोस्ती प्यार और फिर शादी करने की बात तक पहुंच गई। शादी में शनि और मंगल का दोष बताते हुए उसने रवि से चार बार में 10 हजार 400 किमी नर्मदा नदी की यात्रा करवा ली। लड़की की आवाज में बात करने में महारथी सिद्धार्थ संजना का भाई बनकर तीन साल में रवि के साथ उसके पैसों से ही जगह-जगह घूमा। लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी जब संजना से नहीं मिलाया तो रवि ने पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया। चौहाबो पुलिस ने सिद्धार्थ को गिरफ्तार कर लिया है। कोर्ट ने सोमवार को उसे सात दिन की रिमांड पर भेज दिया है। उसने पूछताछ में जो खुलासे किए हैं, वे किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं।

रवि बोला- मैं संजना से जुड़ चुका हूं
रवि का कहना है- ‘सिद्धार्थ को तो सजा मिल जाएगी। लेकिन मेरा क्या होगा? मैं संजना से इतना जुड़ चुका हूं कि बरसों तक उसे भुला नहीं पाऊंगा।’ पुलिस ने बताया कि आरोपी हरदा के भंवर तालाब हंडिया गांव का रहने वाला है। वह गृह मंत्री अमित शाह की आवाज भी निकाल लेता है। पीड़ित रवि कभी संजना से मिला नहीं और न ही वीडियो कॉलिंग पर उनकी बात हुई।

9 सिम; बुआ, मौसी, भाई और पिता बनकर भी बात की
सिद्धार्थ ने संजना का पूरा कुनबा तैयार किया। कॉन्फ्रेंसिंग पर लेकर सबकी आवाज में बात करता था। अलग-अलग 9 सिम से संजना, उसकी बुआ, मौसी, भाई, पिता और सौतेली मां बनकर बात करता था। अलग-अलग आवाज से रवि को विश्वास होता गया। फोन पर रवि समझता था कि संजना से ही बात कर रहा है। कभी उसका भाई सिद्धार्थ संजना की तबीयत खराब बताता। यह भी कहता कि इसके लिए रवि तुम्हें नर्मदा परिक्रमा, कामाख्या माता, ओंकारेश्वर में परिक्रमाएं और तंत्र-मंत्र करने होंगे। शादी की उम्मीद में रवि ने तीन सालों में करीब 1 लाख से ज्यादा किमी की यात्राएं की। 

सिद्धार्थ ने जज के सामने संजना की आवाज निकाली
पुलिस ने सोमवार को सिद्धार्थ और रवि को आमने सामने बैठाकर क्रॉस एक्जामिन किया। अधिकारी भी दंग रह गए, जब सिद्धार्थ ने संजना की ऑडियो की हूबहू आवाज निकाली। हालांकि, रवि मानने को तैयार नहीं है। उसने कहा- हां यह आवाज मेरी संजना की ही है, लेकिन ये सिद्धार्थ संजना नहीं है।

रवि की पत्नी को छोड़ परिवार मानता है कि संजना है
रवि का कहना है कि वह और उसके परिवार वाले यह मानने को तैयार नहीं कि संजना नहीं है। उसके माता-पिता भी यही कहते हैं कि संजना है, लेकिन रवि की पत्नी यह नहीं मानती। संजना उसके पिता, मां, बहन और भाई से बात कर चुकी है। वहीं सिद्धार्थ संजना का पिता बनकर रवि के पिता से, संजना की बुआ बन रवि की मां व बहन से बात कर चुका है। इन सभी तथ्यों की भी पु’लिस जांच कर रही है।