Categories
Other

ये है दुनिया के वो 5 देश जिनके पास नहीं है अपना कोई लिखित संविधान

किसी देश में संविधान होना एक अहम बात होती हैं. कल 26 जनवरी के दिन हमारे एश भारत में 71 व गणतंत्र दिवस मनाया गया था. भारत का संविधान डॉ . बी. आर अम्बेडकर ने लिखा था. आपको बता दें, की भारत का संविधान साल 1950 में लागू किया गया था. लेकिन क्या आप जानते की दुनिया में ऐसे पांच देश भी है, जिनका अपना कोई संविधान नहीं हैं. शायद काफी लोगों को इस बारे में नहीं मालूम होगा, तो आयिए आज हम आपको इन 5 देशों के बारे में बताते हैं.

जैसा की आप लोग जानते है, की भारत देश पर अंग्रेजो ने कई सालों तक शासन किया था. लेकिन शायद आपको एक बात मालूम नहीं होगी, की जिस देश ने, जिन ब्रिटिशों ने हम लोगों पर राज किया था, उनका अपने पास खुद का कोई संविधान ही नहीं हैं.बता दें, की वंहा कोई भी लिखित संविधान नहीं है. लंदन में क्वीन और किंग का राज चलता हैं.  

2 ) सऊदी अरब

सऊदी अरब एक ऐसा देश है, जंहा अधिकतर चीजों पर प्रतिबंध लगे हुए होते हैं. आपको बता दें, की सऊदी अरब का अपना कोई लिखित संविधान नहीं हैं. यंहा पर देश से जुड़े फ़ैसले कुरान के तहत लिए जाते हैं. जंहा लोग कुरान को बहुत महत्व देते है और सर्वोच्च मानते हैं.

3) इजराइल

आपको बता दें, की इजराइल साल 1948 में गुलामी से आज़ाद हुआ था. लेकिन इस देश के पास तब से लेकर आजतक अपना कोई भी लिखित संविधान नहीं हैं. आजादी के बाद यंहा लिखित संविधान होने की पहल भी की गयी थी, पर संसद में कुछ मतभेदों के चलते इसे रद्द कर दिया गया था. यंहा देश से जुड़े अहम फ़ैसले संसद में लिए जाते हैं.

4) न्यूजीलैंड

बता दें, की एक खूबसूरत देश न्यूजीलैंड का भी अपना कोइ लिखित संविधान नहीं हैं. यंहा पर कानून को अहम आधार मान कर ही देश से जुड़े बड़े फ़ैसले लिए जाते हैं.

5 ) कनाडा

नार्थ अमेरिकी का खूबसूरत देश कनाडा , उसके पास भी अपना कोई लिखित संविधान नहीं हैं. हालाकिं इसपर अभी विवाद भी चल रहा हैं. कुछ जानकारियों के अनुसार, कनाडा में लिखित संविधान बन तो चुका है, पर जंहा इसका पालन नहीं किया जाता हैं. लोग अपने नियमों के हसाब से ही फ़ैसले लेते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.