Categories
Other

सिर्फ 1 फीट का छेद और 7800 करोड़ की ज्वैलरी साफ़

आप लोगों ने अक्सर सुना होगा की चोर अलग -अलग तरकीबें अपनाते हैं चोरीं करने के लिये पर जर्मनी से एक ऐसी घटना सामने आई हैं, जिसने दुनिया भर में सनसनी फैला दी हैं . इस घटना को काफी फ़िल्मी अंदाज़ में अंजाम दिया गया हैं, एक म्यूजियम से लगभग करोड़ों की कीमत के जेवरात चुराए गए हैं जिनकी असली कीमत का पता लगाना बेहद ही मुश्किल हैं. आयिए हम आपको इस पूरी घटना के बारे में विस्तार से बताते हैं .

बेहद दुबले पतले चोरों ने दिया इस घटना को अंजाम

जर्मनी की एक न्यूज़ वेबसाइट डेली मेल के अनुसार, बहुत ही दुबले पतले चोरों ने इस घटना को अंजाम दिया. इन चोरों ने चोरी को अंजाम देने के लिए पहले अलार्म सिस्‍टम को फेल किया फिर खिड़की में सिर्फ एक फीट का छोटा सा सुराग किया और इधर से ही अंदर घुस गए थे . म्‍यूजियम में लगे हुए सीसीटीवी फुटेज में चोरों का हुलिया तो कैद हो गया लेकिन उनकी शक्‍ल कैद नहीं हो पायी. चोरी किये गए जेवरात की कीमत लगभग 7800 की बताई जा रही हैं .

ग्रीन वॉल्ट नाम के इस म्यूजियम की सुरक्षा सबसे बेहतर मानी जाती थी. लेकिन इस घटना के बाद वंहा की पुलिस सुरक्षा पर सवाल उठने लग गए हैं.

इलेक्‍ट्रिक पैनल में लगाई आग

चोरों ने सबसे पहले म्‍यूजियम के पास एक इलेक्ट्रिक पैनल को आग के हवाले कर दिया था . आग लगने की वजह से यहां की लाइट और अलार्म दोनों बंद हो गए थे . लेकिन यहां पर नाइट विजन कैमरे लगे होने के कारण चोरों की अंदर घुसने की तस्वीरे उसमे कैद हो गयी हैं . जर्मन पुलिस का कहना हैं की चोरों ने सिर्फ चंद मिनटों में इस घटना हो अंजाम दिया होगा .

चोर ऑडी कार से हो गए फरार

ऐसा पता चला हैं की चोरी को अंजाम देने के बाद चोर एक ऑडी कार में सवार होकर वंहा से फरार हो गए . इस घटना के बाद ये कार जर्मनी के एक इलाके में जलती हुई पाई गई. पुलिस इस गाड़ी की भी अच्छे से जाँच पड़ताल कर रही है. इस चोरी के बारे में कुछ अखबारों का तो यह भी कहना है कि दूसरे विश्‍व युद्ध के बाद किसी रत्‍न की ये सबसे बड़ी चोरी हुई हैं .

इस म्‍यूजियम में है एक अनमोल प्रतिमा

इस म्यूजियम के निदेशक का कहना है कि जिन गहनों की चोरी की गई वह एक तरह से विश्‍व के लिए बहुत बड़ी धरोहर हैं. सैक्‍सनी के शासक ‘ऑगस्‍टस द ग्रीन वॉल्‍ट’ ने ही 1723 में ‘ग्रीन वॉल्‍ट’ को बनवाया था. ऐसा बताया जाता है कि ग्रीन वॉल्‍ट के खजाने में 63.8 सेंटीमीटर की एक प्रतिमा है जिसपर 547.71 कैरेट के नीलम की मणि जड़ी हुई है. ऐसा जानकारी में पता चला हैं कि इस प्रतिमा को रूस के ‘पीटर प्रथम’ ने भेंट में दिया था .

इस म्‍यूजियम के दो हिस्‍से हैं

जर्मनी के ड्रेस्डन की ग्रीन वॉल्ट म्यूजियम की ख़ास बात ये हैं की ये के दो हिस्सों में बटा हुआ हैं. पहला ऐतिहासिक और दूसरा आधुनिक हैं . सोमवार तड़के सुबह के समय इस म्‍यूजियम के ऐतिहासिक हिस्‍से में चोरी की गई थी . म्‍यूजियम के इस हिस्‍से में यहां का लगभग तीन चौथाई खजाना है. इस म्‍यूजियम में रोजाना सीमित संख्‍या में लोगों को आने की इजाजत दी जाती है. दूसरे विश्‍वयुद्ध के बाद यह म्‍यूजियम काफी समय तक बंद था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.