Categories
Other

इस जगह पर पहली बार पीरियड होने पर लड़की के साथ किया जाता है, कुछ ऐसा जिसे सुनकर आपके पैरों तले ज़मीन खिसक जाएगी

जैसा की हम लोग जानते है कि हर लड़की कि ज़िन्दगी में कुछ ऐसे दिन भी होते है जब उन्हें कई तरह की परेशानियों को झेलना पड़ता हैं. वो परेशानी है पीरियड कि जो हर लड़की को सहना पड़ता हैं. इस दौरान लडकियों को पेट दर्द, कमर दर्द जैसी दिक्कतों को झेलना [पड़ता हैं. आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे है जंहा पीरियड के दौरान लड़कियों के साथ कुछ ऐसा किया जाता है जिसे सुनकर आपके पैरों तले ज़मीन खिसक जाएगी.

दरअसल, भारत में एक ऐसी जगह जंहा लड़की को पहली बार पीरियड होने पर जश्न बनाया जाता हैं. असम का एक बोगांइ नामक गांव है जंहा लड़की के पहली बार पीरियड होने पर लोग ख़ुशी से नाचते- गाते हैं. इस गांव की अजीब ही परंपरा है जंहा पहली बार पीरियड पर लड़की कि केले कि पेड़ से शादी करवा दी जाती हैं.

इस अनोखी शादी को तोलिनी शादी नाम भी कहा जाता हैं. बता दें, ये शादी तब करवायी जाती है जब लड़की किशोर-अवस्था में प्रवेश करती हैं.

इस परंपरा के मुताबिक़, लड़की को एक ऐसे कमरे में बंद कर दिया जाता है जहां सूरज की रोशनी बिलकुल भी न पड़ सकें। यंहा तक कि लड़की को खाने में पका हुआ खाना भी नहीं दिया जाता हैं. उन्हें सिर्फ दूध और फल ही खाने को दिया जाता हैं. शायद आपको जानकार हैरानी होगी कि लड़की को ज़मीन पर सोना पड़ता है और वो किसी को देख भी नहीं सकती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.