Categories
धर्म

जिन लोगों के हाथों में होते हैं ये नि’शान, उन पर हमेसा मेहर’बान रहती हैं मां लक्ष्मी!

धार्मिक समाचार

हाथों में बनी हुई आढ़ी ति’रछी रेखाएं हमारे जी’वन में होने वाली घट’नाओं और आने वाले भवि’ष्य से बहुत गहरा सं’बंध रखती हैं। हाथों की रेखाएं स’मय-समय पर परिव’र्तित होती रहती है जिसके का’रण ह’थेली में कई तरह के चिह्नों का नि’र्माँण होता है। ये चि’ह्न् हमारे बारे में बहुत कुछ बताते हैं। हस्त’रेखा शा’स्त्र में इसी तरह के कुछ चि’ह्नों के बारे में बताया गया है। ये चि’ह्न बहुत ही कम लोगों के हाथों में बनते है जिन लोगों के हाथों में इन चिह्नों का नि’र्माण होता है, उन पर हमेशा मां लक्ष्मी की कृ’पा बनी रहती है। ऐसे लोगों के पास किसी तरह का कोई अ’भाव नहीं होता है और इन्हें अपने जीव’न में हर प्र’कार की सुख-सुवि’धा प्राप्त होती है। जानते हैं हथे:ली पर बनने वाले खास नि’शानों के बारे में…

हथेली में स्वास्ति का चिह्न बनना (प्रतीकात्मक तस्वीर)

किसी व्य’क्ति की हथे’ली मे स्वा’स्तिक का चिह्न बनना उसके लिए सौभा’ग्य लेकर आता है। ऐसे बहुत कम लोग होते हैं जिनके हाथ में ये नि’शान बनता है। स्वा’स्तिक के चिह्न वाले लोगों पर मां ल’क्ष्मी की कृपा स’दैव बनी रहती है। जिसके कारण इन्हें धन की कोई कमी नहीं रहती है।

हाथ में त्रिशूल का चिह्न बनने का मतलब (प्रतीकात्मक तस्वीर)

 त्रिशूल को भग’वान शिव का चि’ह्न माना जाता है, जिन लोगों की हथे’ली में त्रिशू’ल का निशान बनता है ऐसे लोगों पर शिव जी की कृ’पा रहती है। जिस रेखा के ऊपर यह चि’ह्न बनता है। वह रेखा शुभ प्र’भाव देने लगती है। अगर त्रि’शूल का चिह्न मंगल पर्वत पर बने तो यह बहुत ही शुभ र:हता है। इससे शिवयोग बनता है जिससे जातक को किसी प्रकार की ध’न की कमी नहीं रहती है।

हथेली में कमल का निशान बनने का मतलब (प्रतीकात्मक तस्वीर)

 हथे’ली में कमल का निशा’न बनना बहुत शुभ’फल’दायी होता है। ऐसे लोगों पर विष्णु जी के साथ मां लक्ष्’मी की कृपा भी रहती है। इनका भाग्य सदै’व साथ देता है। ये लोग वाक’पटुता में कुशल होते हैं। इनकी नेतृ’त्व क्षमता भी क’माल की होती है।

हथेली में मंदिर का चिह्न  बनने वाले लोग आध्यात्म में रुचि रखते हैं (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हथेली में मंदिर के चि’ह्न बनना इस बात की ओर संके’त करता है कि जा’तक को अपने जीवने में उच्च पद की प्रा’प्ति होगी। ले’किन ऐसे जात’क धर्म और आध्या’त्म की ओर ज्यादा रुचि दि’खाते हैं जिसके कारण ये लोग सन्या’सी जीवन की ओर भी जल्दी आक’र्षित हो जाते हैं।