Categories
News

इमरती देवी का कहना था कले’क्टर हमाए हैं, चुनाव हमई जीत हैं’, फिर भी नहीं बचा पाई अपनी सीट

डेली न्यूज़

इम’रती देवी के सम’धी सुरेश राजे ने करी’ब 4105 वोटों के अंतर से उन्हें शिक’स्त दी है. अपनी जीत के दावे करने वाली इम’रती देवी को हार का मुंह देख’ना पड़ा है. शाय’द ही इसे ही लोक’तंत्र कहते हैं कि इमरती देवी अपने ही गढ़ में अप’ना किला नहीं बचा पाईं. न सिंधि’या काम आए न शिव’राज.

ददन विश्वकर्मा/ग्वालियर: ग्वालि’यर क्षेत्र में बी’जेपी को सबसे बड़ा झट’का लगा है. यहां की डबरा से मं’त्री इम’रती देवी अपनी सीट नहीं बचा पाईं. उन्हें उनके ही सम’धी सुरेश राजे ने करी’ब 7663 वोटों के अंतर से शिक’स्त दी है. खास बात यह है कि चुना’व प्रचार के दौरान मंत्री इम’रती देवी ने कले’क्टर को अपने पक्ष में होने की बात कही थी. लेकिन शा’यद ही इसे ही लोकतंत्र कहते हैं कि इमरती देवी अपने ही गढ़ में अपना किला नहीं बचा पाईं. न सिंधि’या काम आए न शिव’राज.

मंत्री इम’रती देवी ने प्रचार के दौ’रान एक गांव में कहा था कि, ‘कले’क्टर हमाए हैं, चुनाव हमई जीत हैं. इसलिए आप हमें ही वोट दें. मंत्री इम’रती का देवी का यह वीडि’यो तेजी से सोशल मीडिया पर वाय’रल हुआ था. उन्होंने शिव’राज सर’कार की सत्ता बचे रहने का दावा किया था, लेकिन शिव’राज की सत्ता तो बची रही, लेकिन वह खुद अप’नी सीट नहीं बचा पाईं. विधा’यक न बन पाने के चलते उन्हें मं’त्री पद भी छोड़ना पड़ेगा.

मतग’णना से ठीक पहले तक इम’रती देवी 80 हजार से ज्यादा वोटों से जीत का दावा कर रही थीं. हालां’कि परिणाम आने तक उन्हें सिर्फ 50 हजार से भी कम वोट मिले. कांग्रे’स के सुरेश राजे ने उन्हें करारी शिक’स्त दी है. 

मंत्री पद के बाद भी हारी चुनाव
सिंधि’या सम’र्थक मंत्रियों में इम’रती देवी की हार सबसे बड़ी मानी जा रही है. क्योंकि वह कांग्रे’स में रहते हुए इस सीट से लगा’तार तीन चुनाव जीतीं थीं. पिछली चुनाव में उनकी जीत का मा’र्जिन 50 हजार से भी ज्यादा था. लेकि’न मंत्री पद होने के बाव’जूद वह चुना’व हार गई हैं. 

डबरा में कांग्रेस की पकड़ रही मज’बूत
2008 के परिसी’मन में डबरा विधान’सभा सीट सामा’न्य से आर’क्षित हो गई थी. तभी से इस सीट पर कांग्रेस का राज बरक’रार है. उपचुनाव में मुका’बला कड़ा रहा, लेकिन कांग्रे’स ने अपनी सीट बचा ली. इस सीट कांग्रे’स लगा’तार चौथी बार चुनाव जीती है.

‘आइटम’ भी न आया काम
चुना’वी रैली के दौरान पूर्व मुख्य’मंत्री कमल’नाथ ने इमरती देवी को आइ’टम कहा था. इस पर जम’कर सिया’सी बवाल मचा था. इसके जवाब में इम’रती देवी ने कमल’नाथ को काला जादू करने वाला तक बता दिया था. सिंधि’या क्या शिव’राज ने भी मौन व्रत रखकर कमल’नाथ के इस बयान को महिला अ’स्मिता से जोड़ दिया था. कमल’नाथ से माफी मंगवाने को लेकर बीजेपी अड़ गई थी. यहां तक दिल्ली राहुल गांधी ने आय’टम वाले बयान पर नारा’जगी जताई थी और कम’लनाथ से माफी मांगने की बात तक कह डाली थी. हालांकि कमल’नाथ ने इसे राहुल गां’धी की निजी राय ब’ताई थी.