Categories
News

प’त्नी की ह’त्या क’र ज’लाई थी ला’श, मा’सूम से बे’टे ने क’र दि’या पि’ता का ये हा’ल दे’खें तस्वी’रें….

हिंदी खबर

प्रता’पगढ़
प’त्नी की ह’त्या क’र सा’क्ष्य छिपा’ने के मा’मले में ना’बालिग बे’टे की ग’वाही प’र राम’लखन या’दव को आजी’वन का’रावास की स’जा औ’र ती’स ह’जार का जुर्मा’ना अदा’लत ने सुना’ई है। जि’ले में फा’स्ट ट्रै’क को’र्ट के प्रथ’म अ’पर स’त्र न्याया’धीश म’धू डों’गरा की अदा’लत ने अ’पर शा’सकीय अधि’वक्ता अ’रविंद सिं’ह की जि’रह प’र स’जा सु’नाई। घट’ना चा’र सा’ल पह’ले ला’लगंज कोत’वाली के बे’ल्हा गां’व की है।
सांके’तिक त’स्वीर
क’हा जा’ता है मां की म’मता अन’मोल हो’ती है औ’र आ’ज सा’बित क’र दि’खाया अमि’त या’दव ने जो अप’नी मां की ह’त्या का इ’कलौता चश्म’दीद था। हा’लांकि घट’ना के स’मय अ’मित मह’ज 5 सा’ल का था। वा’कया है चा’र सा’ल पह’ले 12 जू’न 2016 का। सुब’ह लग’भग 10 ब’जे थे कि राम’लखन अ’पनी प’त्नी अमरा’वती जो दो मा’सूम ब’च्चों की मां थी को घ’र के भी’तर ग’ले प’र पै’र र’खकर च’ढ़ ग’या औ’र ग’ला दबा’कर उस’की ह’त्या क’र दी। ह’त्या से उस’का म’न न’हीं भ’रा औ’र सा’क्ष्य मि’टाने को ते’ल छिड़’क क’र श’व को आ’ग के ह’वाले क’र दि’या। पि’ता की सा’री हैवानि’यत बेब’स मा’सूम आं’खे दे’ख र’ही थी ले’किन पि’ता ने झि’ड़क क’र व’हां से भ’गा दि’या।

प’त्नी के आ’त्महत्या कर’ने की दी थी तह’रीर
राम’लखन अम’रावती के ज’ल जा’ने के बा’द इ’लाकाई था’ने पहु’च क’र प’त्नी के आ’ग ल’गाकर आत्म’हत्या कर’ने की त’हरीर दे दि’या। इस’के बा’द पुलि’स ने श’व को क’ब्जे में ले’कर पो’स्टमार्टम क’रवाया तो चौं’काने वा’ले त’थ्य सा’मने आ’ए। पो’स्टमार्टम की रि’पोर्ट में अम’रावती के ग’र्दन की ह’ड्डी टू’टी हो’ने से ह’त्या की पो’ल खु’ली। अ’ब पुलि’स घ’टना की हकी’कत खंगा’लने में जु’ट ग’ई।

ऐ’से खु’ली ह’त्या की ह’कीकत
आरो’पी औ’र मृत’का के सि’वा घ’र में ब’ड़ा बे’टा 5 सा’ल का अ’मित औ’र 3 सा’ल का छो’टा बे’टा ही थे। ज’ब पुलि’स ने मा’सूम अमि’त से उस’की मां की मौ’त के बा’बत अके’ले में पूछ’ताछ की तो आ’त्महत्या की कहा’नी की पर’तें खु’ल ग’ई औ’र सा’री ह’कीकत साम’ने आ ग’ई। अमि’त ने पुलि’स को ब’ताया कि प’हले पि’ता ने मां को घ’र के सा’मने मारा’पीटा औ’र घ’सीट क’र घ’र के भीत’र ले ग’या ज’हा पू’री वा’रदात को अंजा’म दि’या। इ’सके बा’द पु’लिस ने रा’मलखन को जे’ल भे’ज दि’या था ले’किन जमा’नत प’र च’ल रहा था।

आ’जीवन का’रावास के सा’थ लगा’या जु’र्माना
अदा’लत ने दो’नों मासू’मों को मा’तृत्व ला’भ से वं’चित रह’ने के लि’ए ब’तौर कम्पन’सेसन जु’र्माने की रा’शि 30 ह’जार में 10-10 हजा’र दे’ने का प्रा’वधान कि’या है। ह’त्या के मा’मले में आ’जीवन कारा’वास औ’र 25 ह’जार जुर्मा’ना, जुर्मा’ना न अ’दा क’र पा’ने प’र 2 व’र्ष की अति’रिक्त स’जा के सा’थ ही सा’क्ष्य मि’टाने के आ’रोप में 5 सा’ल की स’जा 5 हजा’र जु’र्माना की स’जा सुना’ई ग’ई।