Categories
Other

बत्ती गुल होने के 6 घंटे बाद भी जलेगा ये इनवर्टर बल्ब,कीमत जानकर आपको भी नहीं होगा यकीन

देश में अभी भी ऐसे कई इलाके हैं ,जहां 24 घंटे बिजली की उपलब्धता आज भी नहीं हो पाती है। इस कारण से कई लोगों को जनरेटर और इन्वर्टर का सहारा लेना पड़ता हैं । वही डीजी सेट प्रदूषण करता है और इनवर्टर महंगा होने के कारण काफी लोग इसे लगवा नहीं पाते हैं । इन परिस्थितियों से निपटने के लिए इंडिया एक्सपो मार्ट में चल रहे एलईडी की प्रदर्शनी में ऐसा बल्ब लांच किया गया है, जो बिजली जाने के छह घंटे के बाद भी जलता रहता है। आयिए आज हम आपको बताते हैं इस इन्वर्टर बल्ब की ख़ास बात क्या हैं , और ये कैसे काम करता हैं ।

इस इन्वर्टर बल्ब में पॉवर बैकअप के लिए इसके अंदर एक बैटरी भी लगाई गई है। इसमें बैटरी प्रोटेक्शन का विकल्प दिया गया है, जिससे यह ओवर चार्ज और डिस्चार्ज नहीं होता है।

तो वहीं दूसरी तरफ बल्ब बनाने वाली कंपनी की निदेशक अंजू जैन ने बताया कि -‘आज भी देहात क्षेत्र में बिजली 24 घंटे नहीं मिल पाती हैं । आम आदमी की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होती है, जो कि घर में इनवर्टर लगा सकें।’ इस बल्ब को तैयार करने में तीन महीने का समय लगा हैं। इसे आमतौर पर लगाए जाने वाले होल्डर में फिट किया जाता है, और बिजली होने पर यह एसी मोड पर चलता है।

अंजू जैन के मुताबिक, बिजली जाने पर ऑटोमेटिक डीसी मोड पर जाकर जलने लगता है। यह पूरे छह घंटे तक की पूरी रोशनी देता है। गांव में पावर फ्लेक्चुएशन (वोल्टेज का उतार-चढ़ाव) ज्यादा होता है। यह बल्ब चार केवी तक के बिजली के झटके को आसानी से सह लेता है और फ्यूज भी नहीं होता हैं । ऊर्जा खपत की बात करें तो चार्ज होने के समय नौ वाट बिजली खर्च करता है, जबकि पूरे दिन जलने पर यह केवल चार वाट बिजली की खपत करता है। इस एक बल्ब की कीमत करीब 200 रुपये हैं ।

तीन चरण से बिजली बचाएगा ये बल्ब

इस कंपनी ने तीन चरण में काम करने वाला एलईडी बल्ब भी तैयार किया है। इसके एक ही स्विच को तीन बार ऑन-ऑफ करने से रोशनी को नियंत्रण में किया जा सकता हैं । पहली बार स्विच ऑन करने पर यह 15 वाट की रोशनी देगी, जो कि रात के समय पढ़ने व खाना बनाने में काम आएगा। दूसरी बार ऑफ कर ऑन करने से 7 वाट की रोशनी मिलेगी और तीसरी बार यह जीरो वाट की रोशनी देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.