Categories
News

फ’र्जी तरीके से हासि’ल की टीचर की नौकरी, डर लगा तो पहुं’चा आदि’वासी विभाग, वहां प’कड़ा गया

डेली न्यूज़

खंडवा कोत’वाली पुलि’स के थाना इंचा’र्ज बीएल मण्ड’लोई ने बताया कि मोहन सिंह का’जले नामक एक व्य’क्ति को फर्जी डॉक्यू’मेंट्स के आधार पर नौ’करी करने के आरोप में गिर’फ्तार किया गया है.

खंडवा: एक तरफ जहां पढ़े-लिखे युवा नौक’री के लिए परे’शान हैं, वहीं दूसरी तरफ ऐसे भी लोग हैं जो फर्जी डॉक्यूमें’ट्स से नौकरी कर शासन को चूना लगा रहे हैं. ऐसा ही एक मामला मध्य प्रदे’श के खंडवा जिले में सामने आया है. जहां एक व्यक्ति प्रशा’सन को चकमा देकर 10 वर्षों से शि’क्षक की नौकरी कर रहा था. इस बात का खुलासा सूचना के अधि’कार अधि’नियम (RTI) के तहत हुआ. फिल’हाल शिकायत के बाद खंडवा कोत’वाली पुलिस ने उसे गिर’फ्तार कर लिया है और मामले में उससे पूछ’ताछ कर रही है.

खंडवा कोत’वाली पुलि’स के थाना इंचा’र्ज बीएल मण्ड’लोई ने बताया कि मोहन सिंह का’जले नामक एक व्य’क्ति को फर्जी डॉक्यू’मेंट्स के आधार पर नौकरी करने के आ’रोप में गिर’फ्तार किया गया है. जान’कारी के मुता’बिक मोहन सिंह काज’ले फर्जी डॉक्यू’मेंट्स के आधार पर पहले खर’गोन जिले में 6 वर्ष तक नौकरी की. जब उसे कुछ गड़’बड़ झाला लगा तो वह वहां की नौकरी छोड़’कर खंडवा के आदि’वासी विभाग में नौक’री करने लगा.

फर्जी तरीके से हासिल की टीचर की नौकरी, लगा डर तो पहुंच गया आदिवासी विभाग, वहां भी पकड़ा गया

मामले में शिका’यत के बाद उसे गिर’फ्तार कर लिया गया है. उसके खि’लाफ 420 सहित विभि’न्न धारा’ओं में मामला दर्ज किया गया है. उसने फर्जी डॉक्यू’मेंट्स कहां से बनवा’या इस बात का पता लगाने के लिए उससे पूछ’ताछ की जा रही है.