Categories
News

खुश’खबरी अब कोई भी व्यक्ति ज’म्मू-कश्मी’र में…., मो’दी सर’कार का बड़ा फैस’ला.

ब्रेकिंग न्यूज़

ज’म्मू-कश्मी’र में अब दे’श का कोई भी व्य’क्ति ज’मीन ख’रीद सकता है. गृह मंत्रा’लय द्वारा मंग’लवार को इस’के तहत नया नोटिफि’केशन जारी किया गया है.

जम्मू-कश्मीर में जमीन खरीदने को लेकर बड़ा फैसला (फाइल: PTI)

ज’म्मू-कश्मी’र में जमी’न खरी’दने को लेकर बड़ा फैस’ला

स्टोरी हाइलाइट्स

  • जम्मू-कश्’मीर में अब कोई भी ख’रीद सकेगा जमी’न
  • केंद्री’य गृह मंत्रा’लय ने जारी किया नया नोटिफि’केशन

ज’म्मू-कश्मी’र में अब दे’श का कोई भी व्य’क्ति ज’मीन खरी’द सक’ता है और वहां पर बस सकता है. गृ’ह मंत्रा’लय द्वारा मंग’लवार को इसके तहत नया नोटिफि’केशन जारी किया गया है. हालां’कि, अभी खेती की जमी’न को लेकर रोक जारी रहेगी.

जम्मू-कश्मी’र के उपरा’ज्य’पाल मनो’ज सिन्हा के मुता’बिक, हम चाहते हैं कि बाहर की इंड’स्ट्री जम्मू-कश्मी’र में लगें, इसलिए इंडस्ट्रि’यल लैंड में इन्वे’स्ट की जरू’रत है. लेकिन खेती की ज’मीन सिर्फ राज्य के लोगों के लिए ही रहेगी. 

आपको बता दें कि इससे पहले जम्मू-क’श्मीर में सिर्फ वहां के निवा’सी ही जमी’न की खरीद-फरो’ख्त कर सकते थे. लेकि’न अब बाहर से जाने वाले लो’ग भी जमीन खरीद’कर वहां पर अप’ना काम शुरू कर सक”ते हैं. 

केंद्रीय गृह मंत्रा’लय ने ये फैस’ला जम्मू-क’श्मीर पुनर्ग’ठन अधिनि’यम के तहत लिया है, जिसके तहत कोई भी भार’तीय अब जम्मू-कश्मी’र में फै’क्ट्री, घर या दुका’न के लिए जमी’न खरी’द सकता है. इसके लिए किसी तरह के स्था’नीय निवासी होने का सबूत देने की भी जरू’रत नहीं होगी.

गौरत’लब है कि जम्मू-कश्मी’र को पिछले साल ही अनु’च्छेद 370 से मु’क्त किया गया है, उसके बाद 31 अक्टू’बर 2019 को जम्मू-क’श्मीर केंद्र शा’सित प्रदेश बन गया था. अब केंद्र शासि’त प्रदे’श होने के एक साल पूरे होने पर जमीन के का’नून में बद’लाव किया गया है.