Categories
Other

फांसी देने से पहले क्यों दौड़ लगाता है जेलर? कारण जानकर हो जाओगे हैरान

क्या आप ये बात जानते हैं कि किसी भी दोषी को फांसी देने से पहले जेलर दौड़ लगता है ? आज हम आपको इस सवाल का जवाब बतायेंगे. कुछ ही दिनों में निर्भया के दोषियों को फंसी पर लटकाया जायेगा. इसी साल के अंत तक इन्हें सजा मिल जाएगी. निर्भया के केस में जेल के जल्लाद ने भी कह दिया है फंसी की तैयारी शुरू करो मैं देने के लिए तैयार हूँ. आइये जानते हैं किसी दोषी को फांसी देने से पहले जेलर क्यों दौड़ लगता है.

इस वजह से दौड़ लगाता है जेलर…

ब्लैक वारंट जारी होने के बाद कोर्ट द्वारा निर्धारित तारीख और समय पर दोषीको फांसी दे दी जाती है लेकिन फांसी देने से ठीक पहले जेल सुप्रिटेंडेंट एक बार दौड़कर अपने अपने ऑफिस जाते हैं. वो इसलिये ऑफिस जाते हैं कि कहीं फांसी रोकने के लिए कोई ऑर्डर तो नहीं आया है. अगर कोई ऑर्डर नहीं आया होता तो तय वक़्त पर फांसी दे दी जाती है.

फंसी देने से पहले दोषी करता है ये काम…

फांसी देने से पहले दोषीको नहलाया जाता है और नाश्ता दिया जाता है. फिर काले कपड़े पहनाकर फांसी के फंदे तक ले जाया जाता है. उस वक़्त कैदी के साथ 12 सुरक्षाकर्मी होते हैं. फांसी देते वक्त सिर्फ चार लोग मौजूद होते हैं. फांसी देने के बाद आधे घंटे तक शरीर को फांसी के फंदे पर लटके रहने दिया जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.