Categories
News

क’ब्र से म’हिला का हा’थ का’ट ले ग’या श’ख्स, वज’ह जान’कर हो जा’एंगे….

हिंदी खबर

कुशी’नगर: तं’त्र-मं’त्र के च’क्कर में व्य’क्ति कै’से-कै’से कु’कर्म क’र सक’ता है, इ’सका ए’क मा’मला शनि’वार को कुशी’नगर में दि’खा। छ’ह दि’न पह’ले तबी’यत बि’गड़ने से कुशी’नगर के राम’कोला क्षे’त्र की महि’ला की मौ’त हो ग’ई। परि’जनों ने ला’श को दफ’ना दि’या। शनि’वार को प’रिजन उ’स स’मय है’रान र’ह ग’ए ज’ब म’हिला के श’व को क’ब्र से नि’कला हु’आ दे’खा। महि’ला का हा’थ क’टा हु’आ था। मौ’के प’र ह’रे रं’ग की चा’दर प’ड़ी थी। पा’स में मि’ठाईयां भी थीं। ग्रामी’णों का आ’रोप है कि कि’सी ने तं’त्र-मं’त्र को ले’कर ऐ’सा कि’या है।

श’व को दो’बारा क’ब्र में क’र दि’या ग’या दफ’न

सुब’ह क’ब्र से बा’हर प’ड़े श’व को दे’ख ग्रा’मीणों की भी’ड़ मौ’के प’र जु’ट ग’ई। परि’जनों की मौ’जूदगी में श’व को दोबा’रा क’ब्र में द’फन क’र दि’या ग’या। देव’रिया बा’बू के टो’ला जोल’हापट्टी नि’वासी अब्दु’ल शा’ह की प’त्नी शब’रून ने’शा (28) गर्भ’वती थी। महि’ला का प’ति अब्दु’ल शा’ह वि’देश में र’हता है। फाजि’लनगर में ए’क नि’जी अस्प’ताल क’रीब 26 दि’न प’हले श’बरून का प्र’सव हु’आ तो ज’च्चा-ब’च्चा दो’नों स्व’स्थ मि’ले।

प्रस’व के 20 दि’न बा’द पिछ’ले रवि’वार को म’हिला की माय’के में ही मौ’त हो ग’ई। जान’कारी प’र स’सुराल वा’लों ने श’बरुन का श’व गां’व ले’कर प’हुंचे औ’र छ’ह रो’ज पह’ले उ’से जो’लहापट्टी गां’व के स’मीप प’गार जा’ने वा’ली स’ड़क के कि’नारे कब्रिस्ता’न में द’फन क’र दि’या। द’फन क’रने के छ’ह दि’न बा’द श’निवार की सु’बह खे’त की तर’फ जा र’हे ग्रामी’णों ने क’ब्रिस्तान में ए’क श’व दे’खा।

क’ब्र के बाह’र प’ड़े श’व को देख’ने के लि’ए लो’गों की भा’री भी’ड़ जु’ट ग’ई। लो’गों ने इ’सकी सूच’ना पु’लिस को दी। प्रत्यक्ष’दर्शियों के मुता’बिक म’हिला का श’व क’ब्र से बा’हर प’ड़ा था औ’र उस’का दा’हिना हा’थ क’टा हु’आ था। क’ब्रिस्तान परि’सर में क’टे हु’ए हा’थ को का’फी खो’जने का प्र’यास कि’या ग’या म’गर हा’थ न’हीं मि’ला। व’हीं, ह’रे रं’ग की चा’दर औ’र मिठा’इयां भी श’व के पा’स से पा’ए ग’ए।

तं’त्र-मं’त्र के लि’ए श’व को नि’काला

ग्रामी’णों में च’र्चा थी कि तं’त्र-मं’त्र के च’क्कर में महि’ला का श’व निका’ला ग’या हो’गा। एस’पी वि’नोद कु’मार सिं’ह भी मा’न र’हे हैं कि श’व तं’त्र-मं’त्र के नि’काला जा स’कता है। ए’सपी का क’हना है कि क’ब्र से बाह’र प’ड़े म’हिला के श’व की जान’कारी मि’ली है। तं’त्र-मं’त्र को ले’कर श’व बा’हर निका’ले जा’ने का आ’रोप लगा’या जा र’हा है। मा’मले में पु’लिस ह’र बिं’दु प’र गंभी’रता से जां’च क’र र’ही है।

Categories
News

क’ब्र से म’हिला का हा’थ का’ट ले ग’या श’ख्स, वज’ह जान’कर हो जा’एंगे….

हिंदी खबर

कुशी’नगर: तं’त्र-मं’त्र के च’क्कर में व्य’क्ति कै’से-कै’से कु’कर्म क’र सक’ता है, इ’सका ए’क मा’मला शनि’वार को कुशी’नगर में दि’खा। छ’ह दि’न पह’ले तबी’यत बि’गड़ने से कुशी’नगर के राम’कोला क्षे’त्र की महि’ला की मौ’त हो ग’ई। परि’जनों ने ला’श को दफ’ना दि’या। शनि’वार को प’रिजन उ’स स’मय है’रान र’ह ग’ए ज’ब म’हिला के श’व को क’ब्र से नि’कला हु’आ दे’खा। महि’ला का हा’थ क’टा हु’आ था। मौ’के प’र ह’रे रं’ग की चा’दर प’ड़ी थी। पा’स में मि’ठाईयां भी थीं। ग्रामी’णों का आ’रोप है कि कि’सी ने तं’त्र-मं’त्र को ले’कर ऐ’सा कि’या है।

श’व को दो’बारा क’ब्र में क’र दि’या ग’या दफ’न

सुब’ह क’ब्र से बा’हर प’ड़े श’व को दे’ख ग्रा’मीणों की भी’ड़ मौ’के प’र जु’ट ग’ई। परि’जनों की मौ’जूदगी में श’व को दोबा’रा क’ब्र में द’फन क’र दि’या ग’या। देव’रिया बा’बू के टो’ला जोल’हापट्टी नि’वासी अब्दु’ल शा’ह की प’त्नी शब’रून ने’शा (28) गर्भ’वती थी। महि’ला का प’ति अब्दु’ल शा’ह वि’देश में र’हता है। फाजि’लनगर में ए’क नि’जी अस्प’ताल क’रीब 26 दि’न प’हले श’बरून का प्र’सव हु’आ तो ज’च्चा-ब’च्चा दो’नों स्व’स्थ मि’ले।

प्रस’व के 20 दि’न बा’द पिछ’ले रवि’वार को म’हिला की माय’के में ही मौ’त हो ग’ई। जान’कारी प’र स’सुराल वा’लों ने श’बरुन का श’व गां’व ले’कर प’हुंचे औ’र छ’ह रो’ज पह’ले उ’से जो’लहापट्टी गां’व के स’मीप प’गार जा’ने वा’ली स’ड़क के कि’नारे कब्रिस्ता’न में द’फन क’र दि’या। द’फन क’रने के छ’ह दि’न बा’द श’निवार की सु’बह खे’त की तर’फ जा र’हे ग्रामी’णों ने क’ब्रिस्तान में ए’क श’व दे’खा।

क’ब्र के बाह’र प’ड़े श’व को देख’ने के लि’ए लो’गों की भा’री भी’ड़ जु’ट ग’ई। लो’गों ने इ’सकी सूच’ना पु’लिस को दी। प्रत्यक्ष’दर्शियों के मुता’बिक म’हिला का श’व क’ब्र से बा’हर प’ड़ा था औ’र उस’का दा’हिना हा’थ क’टा हु’आ था। क’ब्रिस्तान परि’सर में क’टे हु’ए हा’थ को का’फी खो’जने का प्र’यास कि’या ग’या म’गर हा’थ न’हीं मि’ला। व’हीं, ह’रे रं’ग की चा’दर औ’र मिठा’इयां भी श’व के पा’स से पा’ए ग’ए।

तं’त्र-मं’त्र के लि’ए श’व को नि’काला

ग्रामी’णों में च’र्चा थी कि तं’त्र-मं’त्र के च’क्कर में महि’ला का श’व निका’ला ग’या हो’गा। एस’पी वि’नोद कु’मार सिं’ह भी मा’न र’हे हैं कि श’व तं’त्र-मं’त्र के नि’काला जा स’कता है। ए’सपी का क’हना है कि क’ब्र से बाह’र प’ड़े म’हिला के श’व की जान’कारी मि’ली है। तं’त्र-मं’त्र को ले’कर श’व बा’हर निका’ले जा’ने का आ’रोप लगा’या जा र’हा है। मा’मले में पु’लिस ह’र बिं’दु प’र गंभी’रता से जां’च क’र र’ही है।