Categories
Other

कोरोना वायरस के वजह से कमलनाथ सरकार को मिली कुछ दिन की राहत

राहुल गांधी के कभी करीबी रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कल होली के दिन कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था, जिनके बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस के 22 विधायकों ने भी पार्टी छोड़ दी थी. वहीं खबरें ये भी आ रही है कि भारतीय जनता पार्टी ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा सदस्य बना चुके हैं. वोही बात करें मुख्यमंत्री कमलनाथ की तो उनकी मुसीबतें कम होने का नाम भी नहीं ले रहे हैं. लेकिन इस क्रम में कमलनाथ सरकार को विधानसभा द्वारा राहत मिली हैं खुद को साबित करने के लिए. आइये बताते हैं पूरी बात.

दरअसल हुआ यह है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी ही पार्टी के खि’लाफ मो’र्चा खोल दिया था. जिसके बाद पार्टी के 22 सदस्यों ने कांग्रेस का दा’मन छोड़ दिया. जिसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने राज्यपाल के सामने फ्लोर टेस्ट के लिए प्र’स्ताव रखा था. जिसके बाद 16 मार्च यानी आज फ्लोर टेस्ट होना था. लेकिन विधानसभा की कार्यवाई को 26 मार्च तक के लिए टाल दिया गया है. और राज्यपाल लालजी टंडन ने विधायकों को नि’यमों का पा’लन करने के लिए कहा है. इसके अलावा शिवराज सिंह चौहान की तरफ से स’र्वोच्च अ’दालत में याचि’का दा’यर की गई है. जिसके बाद यह रा’जनितिक घमा’सान कौनसा नया तू’ल पकड़ेगा यह तो वक्त ही बतायेगा.

गौरतलब है 22 विधायकों के इस्ती’फे के बाद से कमलनाथ सरकार के ऊपर सं’कट और बढ़ गया है. वहीं फ्लोर टेस्ट की तारीफ अभी कुछ समय के लिए टल जरुर गयी है. लेकिन इससे कमलनाथ सरकार की मु’श्किले कम नहीं हुई है. जिसके बाद अब यह देखना होगा कि 26 मार्च को विधानसभा की कार्यवाई में कमलनाथ के लिए कुछ सकारा’त्मक होता है या नहीं . क्या उनको अब अपनी ग’द्दी से हाथ धोना पड़ेगा या नहीं.  

Leave a Reply

Your email address will not be published.