Categories
News

मैं जिं’दा रहूं या ना रहूं, लेकिन सबको बेप’र्दा करके रहूंगी: कंगना

हिंदी वायरल खबर

मुंबई: सुशांत के लिए इं’साफ की मांग को लेकर कंगना ने आवाज उठाई थी, लेकिन अब ये ल’ड़ाई कंगना बनाम शिवसेना हो गई है। संजय राउत और कंगना रानौत में ट्वीटर वार जारी है। इस बीच BMC ने कंगना के द’फ्तर पर बुलडोजर चला दिया और अब BMC की न’ज’र कंगना के घर पर है, लेकिन अब हाईकोर्ट ने BMC से जबाव तलब किया है कि कार्रवाई करने में इतनी जल्’दबाजी क्यों की। BMC को इसका जवाब आज हाईकोर्ट में देना होगा, लेकिन दफ्’तर तोड़े जाने से तिलमिलाई कंगना महाराष्ट्र सरकार को ललकारते हुए कहा है कि मैं चाहे जिंदा रहूं या ना रहूं, लेकिन सबको बेपर्दा करके रहूंगी।

इसके साथ ही उन्‍होंने एक के बाद एक ट्वीट किए, जिसमें उन्‍होंने लिखा, ‘फैंसी नारीवादियों, बॉलीवुड कार्यकर्ताओं, कैंडल मार्च समूहों और अवार्ड वापसी गिरोह ने महाराष्ट्र में का’नू’न और व्यवस्था की खुली हत्या के बारे में हाई कोर्ट की टिप्’पणी पर कुछ नहीं कहा। ठीक है, मुझे हमेशा सही साबित करने के लिए धन्यवाद

एक अन्‍य ट्वीट में कंगना ने कहा, ‘मैं अपनी मुंबई में हूं, अपने घर में हूं, मुझपर वार भी हुआ तो पीठ पीछे, जब मैं फ़्लाइट में थी, सामने नोटिस देने की या वार करने की हिम्मत नहीं है मेरे दुश्मनों में, ये जानकर अच्छा लगा। बहुत लोग मुझे पहुंचाई हुई हानि से दुखी और चिं’तित हैं, मैं उनके आशीर्वाद और स्नेह की आभारी हूं।

कंगना यहीं नहीं रूकी और उद्ध ठाकरे पर लगातार हमला कर रही है। उन्‍होंने अगले ट्वीट में लिखा, ‘तुम्हारे पिताजी के अच्छे कर्म तुम्हें दौलत तो दे सकते हैं मगर सम्मान तुम्हें खुद कमाना पड़ता है, मेरा मुंह बंद करोगे, मगर मेरी आवाज़ मेरे बाद सौ फिर लाखों में गूंजेगी, कितने मुंह बंद करोगे? कितनी आवाज़ें दबाओगे? कब तक सच्चाई से भागोगे तुम कुछ नहीं हों सिर्फ़ वंशवाद का एक न’मूना हो।

कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच जुबानी जंग अब आर-पार की लड़ाई बन गई है। बुधवार को कंगना के मुंबई पहुंचने से पहले बीएमसी ने अवैध निर्माण का हवाला देकर कंगना के दफ्तर में तोड़’फोड़ की, वहीं अब नगरपालिका ने कंगना के घर पर टेढ़ी नजर डाल दी है। बीएमसी ने कोर्ट में याचिका देकर खार इलाके में बने कंगना के फ्लैट में 8 अवैध निर्माण गिनाए हैं और उसे तोड़ने की इजाजत मांगी है।

बीएमसी का आरोप है कि कंगना ने साल 2018 में अपने घर में कई बदलाव किए। कंगना के फ्लैट में आठ बदलाव किए गए और सारे बदलाव बीएमसी के नियमों को तोड़ कर किए गए। बीएमसी का कहना है कि उसने दो साल पहले कंगना रनौत को एक नोटिस जारी किया था। इसमें कहा गया था कि घर में गलत तरीके से रेनोवेशन का काम हुआ है। ये नियमों का उल्लंघन है। तब कंगना ने सि‍टी सिविल कोर्ट में जाकर स्टे ऑर्डर ले लिया था। अब बीएमसी ने इस मामले में कैविएट फाइल किया है। बीएमसी ने कहा है कि स्टे ऑर्डर को रद्द किया जाए और हमें तोड़ने की इजाजत दी जाए।

ये खबर जैसे ही कंगना के कानों तक पहुंची कंगना भड़क गई, उन्होंने फौरन ट्विट कर उद्धव ठाकरे के साथ फिल्ममेकर करण जौहर को भी निशाने पर लिया और जमकर आग उगली। कंगना ने ट्विटर पर लिखा, ‘आओ उद्धव ठाकरे और करण जौहर गैंग आप लोगों ने पहले मेरा दफ्तर तोड़ा, फिर घर तोड़ दो। इसके बाद मेरा चेहरा और मेरे शरीर को भी तोड़ दो, आप क्या कर रहे हो ये पूरी दुनिया देख रही है, मैं चाहे जिंदा रहूं या ना रहूं लेकिन मैं सबको बेपर्दा करके रहूंगी।’

हालांकि कंगना के वकील ने बुधवार को बॉम्बे हाईकोर्ट से तोड़फोड़ पर स्टे ले लिया है। इस मामले में आज दोपहर 3 बजे सुनवाई होनी है। हाईकोर्ट ने कंगना के ऑफिस में अवैध निर्माण को गिराने में जल्दबाजी करने के लिए बीएमसी से जवाब मांगा है। लिहाजा बीएमसी आज कोर्ट के सामने अपनी दलील पेश करेगी।

कंगना और शिवसेना का पंगा बढ़ता देख शरद पवार भी एक्शन में आ गए। बीएमसी की कार्रवाई को लेकर शरद पवार नाराज बताए जा रहे हैं। नाराज शरद पवार ने मामले को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे के साथ 45 मिनट तक बैठक की और इस तरह के संवेदनशील मुद्दों पर एहतियात बरतने की सलाह दी है। कंगना के बहाने बीजेपी को इस वक्त महाराष्ट्र की सरकार को घेरने का शानदार मौका मिल गया है। महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव सरकार पर निशाना साधते हुए ये तक कह दिया कि मैंने इससे कमजोर सरकार नहीं देखी।

वहीं अभिनेता अध्ययन सुमन के पुराने बयान को आधार बनाकर महाराष्ट्र सरकार ने कंगना के खिलाफ ड्रग केस की जांच करने को कहा। एक बयान में अध्ययन ने कहा था कि कंगना खुद भी ड्रग्स लेती थी और मुझे में मजबूर किया गया था। हालांकि अब उन्होंने कहा है कि हम दोनों की एक ही लड़ाई है सुशांत सिंह राजपूत को इंसाफ दिलाना।

देश की इतिहास में पहली बार बॉलीवुड हीरोइन ने किसी सरकार को सीधे ललकारा है। महाराष्ट्र की सरकार और शिवसेना नेताओं पर कंगना रोज़ करारे हमले कर रही हैं। पहले बॉलीवुड में भाई भतीजावाद का मुद्दा उठाकर एक बड़े तबके से लोहा लेने वाली कंगना ने ऐसी जंग छेड़ दी है, जिसका अंजाम क्या होगा किसी कुछ पता नहीं।