Categories
धर्म

आपके काम की ख’बरः इस करवा’चौथ बन रहा है ऐसा मु’हूर्त, हर मनोका’मना होगी पूरी ,इस स’मय करे पूजा..

धर्म समाचार

आपके काम की खबरः इस करवाचौथ बन रहा है ऐसा मुहूर्त, हर मनोकामना पूरी होगी

क’रवा च’तुर्थी पर योग, नक्ष’त्र व पंचा’ग की स्थि’ति देव कृ’पा से अखं’ड सौभा’ग्य व अनु’पम सौं’दर्य प्रा’प्त करने का सं’केत दे रही है. इन वि’शिष्ट यो’गों की सा’क्षी में गणे’श व चतु’र्थी माता का पू’जन शुभि’च्छ प्रदान करने वाला होगा.

भोपा’ल: इस साल कर’वा चौ’थ का त्यो’हार 4 नवं’बर को है. इसे विवा’हित महि’लाओं का सबसे अहम त्यो’हार माना जाता है. इस बार कर’वा चौथ के मौके पर कई अच्छे सं’योग भी बन रहे हैं, खास’कर स’र्वार्थ सिद्धि योग. वहीं शिव’योग, बुधा’दित्य योग, सप्त’कीर्ति, महादी’र्घायु और सौ’ख्य योग का भी निर्मा’ण हो रहा है. ये सभी योग बहुत ही महत्व’पूर्ण हैं. इसी’लिए सुहा’गिनों के लिए यह कर’वा चौ’थ अ’खंड सौभा’ग्य देने वाला होगा. देश के कुछ हि’स्सों में कुं’वारी लड़’कियां भी पूरे विधि-विधा’न के साथ यह व्रत रखती हैं. जिन लड़कि’यों की शा’दी तय हो चु’की होती है, वे भी अप’ने होने वाले पति के लिए कर’वा चौ’थ का व्रत रख’ती हैं.

कर’वा चतु’र्थी पर 22 घंटे रहेगा सर्वार्थ’सि‍द्धि योग
करवा चतु’र्थी पर बुध’वार को सालों बाद 22 घंटे तक सुख, सौभा’ग्य का सर्वा’र्थसि‍’द्धि योग रहने वाला है. संयो’ग यह भी है कि इस दिन मृग’शिरा नक्ष’त्र तथा मिथु’न राशि के चंद्र’मा की सा’क्षी रहेगी. ज्योति’षियों के अनु’सार इस प्रकार के योग सं’योग में भग’वान गणेश, चौथ मा’ता व चंद्र’मा का पूजन अखं’ड सौभा’ग्य के साथ घर परि’वार में सुख समृ’द्धि देने वाला माना गया है, क्यों’कि साल के सबसे बड़ी चतु’र्थी पर ऐसा संयो’ग सा’लों बाद बन रहा है.

अखं’ड सौभा’ग्य व अनु’पम सौं’दर्य की प्राप्ति होगी
कर’वा चतु’र्थी पर योग, नक्ष’त्र व पंचा’ग की स्थि’ति देव कृ’पा से अखं’ड सौभा’ग्य व अनु’पम सौंद’र्य प्राप्त करने का संके’त दे रही है. इन विशि’ष्ट योगों की साक्षी में गणे’श व चतु’र्थी माता का पू’जन शुभि’च्छ प्रदा’न करने वाला होगा. इस’दिन अखं’ड सौभा’ग्य व उत्तम वर की प्रा’प्ति के लिए महि’लाएं व युव’तियां साध’ना कर सकती है.

कर’वा चौ’थ का खास मुहूर्त
करवा चौ’थ की कथा और पू’जन के लिए खास मुहू’र्त बना है. इस बार शुभ मुहू’र्त 5:34 बजे से शा’म 6:52 बजे तक है. चार नवं’बर को प्रातः 3:24 बजे से कार्ति’क कृ’ष्ण पक्ष की चतु’र्थी तिथि सर्वा’र्थ सि’द्धि योग एवं मृग’शिरा नक्षत्र में चतु’र्थी तिथि का समा’पन 5 नवं’बर को प्रातः 5:14 बजे होगा.

शिव परिवार की पूजा
क’रवा चौ’थ के त्यो’हार पर भग’वान शि’व के पूरे परि’वार की पूजा होती है. इस दिन मां पार्व’ती, भग’वान शिव, कार्ति’केय एवं गणे’श की पूजा का वि’शेष मह’त्व है. इस दिन क’रवे में जल भर’कर कथा सुनी जा’ती है. महि’लाएं सुबह सूर्यो’दय से ले’कर चंद्रो’दय तक निर्ज’ला व्रत रखती हैं और चं’द्र दर्श’न के बाद ही व्रत खो’लती है. स्व’यं पा’नी पीने से पहले चंद्र’मा को अ’र्घ्य दिया जाता है.