Categories
News

सावधान-कोरोना को हराने वालो को हो रही है ये लाइलाज बीमारी,सर्वे में हुआ खुलासा!जानिये इसके लक्षण और बचाव…

हिंदी न्यूज़

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोना कहर बनकर टूट रहा है. बीते 6 महीनों में  दो करोड़ से अधिक लोग इस वायरस की गिरफ्त में आ चुके हैं, तो मरने वालों की संख्या 7 लाख 34 हजार के पार पहुंच गई है. इसके बाद भी कोरोना संक्रमण का कोई स्थाई समाधान नहीं निकल पाया है. इस बीच कई तरह के अध्ययन भी सामने आए हैं, जिनमें से एक में ये दावा किया गया है कि कोरोना संक्रमण से रिकवर होने के बाद भी लोग क्रॉनिक फटीग सिंड्रोम (Chronic fatigue syndrome) के शिकार हो सकते हैं, जिसका कोई स्थाई उपचार ही नहीं है.

इसका सीधा सा मतलब ये है कि कोरोना से जान भले बच जाए, किन्तु ये अपने पीछे ऐसी बीमारी छोड़कर जा सकता है, जिसका दंश आपको ताउम्र झेलना पड़ सकता है. अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रेवेंशन सेंटर ने दावा किया है कि कोरोना से रिकवर हुए 35 फीसदी लोगों में क्रॉनिक फटीग सिंड्रोम मिला है, जो काफी चिंताजनक बात है. ये रिपोर्ट 24 जुलाई तक के मामलों के अध्ययन के बाद तैयार की गई है.

CDC ने कोरोना से स्वस्थ हुए 229 लोगों के बीच ये सर्वे किया, जिसमें से 35 प्रतिशत लोग क्रॉनिक फटीग सिंड्रोम से पीड़ित पाए गए. इस सिंड्रोम का कोई एक लक्षण नहीं है. सबमें इसके अलग अलग या कई लक्षण और समस्याएं एक साथ देखी गई. इस समस्या के ठीक होने में कई बार दशकों का वक़्त लगता है और कई गंभीर बीमारियों से उपचार के बाद ये सिंड्रोम लोगों में पाया जाता है. यानि कि कोरोना महामारी इस क्रॉनिक फटीग सिंड्रोम को बढ़ाने वाले एक और कारण के रूप में ही सामने आया है. 

आपके वायरस के संपर्क में आने के बाद 14 दिनों तक आपके परिवार, दोस्तों, और समुदाय के लिए जोखिम पैदा करते हैं। भले ही आपने कहीं की भी यात्रा की हो या आपने अपनी ट्रिप के दौरान जो कुछ भी किया हो, दूसरों को बिमार होने से बचाने के लिए यह कार्य करें:

  • जब दूसरों के आस-पास हों, अन्य लोग जो आपके परिवार के नहीं हैं उनसे कम से कम 6 फीट (लगभग 2 भुजाओं की लंबाई भर) दूर रहें। ऐसा हर स्थान पर, घर के अंदर या बाहर, करना महत्वपूर्ण है।
  • जब आप अपने घर से बाहर हों तो अपनी नाक और मुँह ढकने के लिए चेहरे पर कपड़े का मास्क पहनें।
  • बार-बारअपने हाथ धोएं या हैंड सेनिटाइज़र का इस्तेमाल करें।
  • अपने स्वास्थ्य की निगरानी करें: कोविड-19 के लक्षणों पर नज़र रखें, और यदि आप बिमार महसूस करें तो अपना तापमान लें।

यात्रा के बाद राज्य और स्थानीय अनुशंसाओं या आवश्यकताओं का पालन करें।

उच्च जोखिम वाली गतिविधियाँ

यात्रा के कुछ प्रकार और गतिविधियाँ आपको कोविड-19 के संपर्क के लिए उच्च जोखिम में डाल सकती हैं (नीचे सूची देखें)।  यदि आपने उच्च जोखिम वाली गतिविधियों में भाग लिया है या आपको लगता है कि आपकी यात्रा से पहले या उसके दौरान इसके संपर्क में आए हो सकते हैं, तो (ऊपर सूचीबद्ध सावधानियों के अलावा) अतिरिक्त सावधानी बरतें और आपके आने के बाद 14 दिनों तक दूसरों की सुरक्षा करें:

  1. जितना संभव हो घर पर ही रहें।
  2. कोविड-19 से गंभीर रूप से बिमार होने के उच्च जोखिम पर होने वाले लोगों से दूर रहें।
  3. कोविड-19 की जाँच करवाने पर विचार करें।

किन गतिविधियों को उच्च जोखिम माना जाता है?

यह उन गतिविधियों और स्थितियों के उदाहरण हैं जो कोविड-19 के संपर्क में आने के आपके जोखिम को बढ़ा सकते हैं:

  • उस क्षेत्र में होना या जाना जहाँ कोविड-19 का प्रसार उच्च-स्तर पर हो रहा है। आप उन स्थानों के स्तरों की जांच कर सकते हैं जहां आपने यात्रा की थी, जिनमें देशअमेरिकी राज्यकाउंटियाँ और शहर शामिल हैं।
  • शादी, अंतिम संस्कार या पार्टी जैसे बड़े सामाजिक आयोजनों में जाना।
  • खेल समारोह, संगीत कार्यक्रम या परेड जैसी सामूहिक सभाओं में भाग लेना।
  • भीड़ में जाना – उदाहरण के लिए, रेस्तरां, बार, हवाई अड्डे, बस और ट्रेन स्टेशन, या मूवी थिएटर में।
  • क्रूज जहाज या नदी में नाव की यात्रा करना।

यदि आप जानते हैं कि आप कोविड-19 वाले किसी के संपर्क में थे, तो आगे की यात्रा को स्थगित कर दें। यहां तक कि लक्षणों के बिना भी, आप अपनी यात्रा पर अन्य लोगों में कोविड-19 को फैला सकते हैं।