Categories
News

ये है दु’निया का सब’से छो’टा गिर’गिट, उंग’ली की नो’क ब’राबर है इस’का आ’कार, लेकि’न का’म क’रता है ऐ’सा जि’से दे’ख आ’पकी रू’ह कां’प उठे’गी, दे’खें…

हिंदी खबर

गिर’गिट के रं’ग बद’लने वा’ली आ’दत के बा’रे में आ’पने सु’ना ही न’हीं ब’ल्कि दे’खा भी हो’गा। अ’पनी इ’स प्रकृ’ति के लि’ए गि’रगिट का’फी म’शहुर हैं। आ’मतौर गिर’गिट की लंबा’ई क’म से क’म 4 से 5 इं’च हो’ती है।

वैज्ञा’निकों ने इ’से दुनि’या का सब’से दु’निया का सब’से छो’टा रेप्टाइ’ल या’नी रें’गने वा’ला जी’व मा’ना है औ’र इ’से नै’नो-गिर’गिट ना’म दि’या है। जर्म’नी के हैम्ब’र्ग स्थि’त नेचु’रल हि’स्ट्री सें’टर के साइं’टिस्ट ओ’लिवर हॉ’लिस्चेक के मुता’बिक इ’स नै’नो-गिर’गिट का घ’र मेडा’गास्कर के जं’गल हैं। क’ई सा’लों से इ’न जं’गलों की क’टाई च’ल र’ही थी, ले’किन अ’ब नै’नो-गि’रगिट को बचा’ने के लि’ए इ’से सं’रक्षित कि’या जा र’हा है। नै’नो-गिर’गिट प्रजा’ति के संर’क्षण के लि’ए जंग’लों की क’टाई रो’कना ब’ड़ा कद’म मा’ना जा र’हा है।

ब’ता दें कि वैज्ञा’निकों को इ’स खा’स प्रजा’ति के दो न’र औ’र दो मा’दा गिर’गिट मि’ले हैं। न’र गिर’गिट का आ’कार मा’दा गिर’गिट की अपे’क्षा क’म है। न’र गिर’गिट का आका’र 0.53 इं’च, तो व’हीं मा’दा का आ’कार 0.75 इं’च है।

वैज्ञानि’कों के मु’ताबिक नै’नो-गिर’गिट के श’रीर का 20 फी’सदी हि’स्सा रिप्रोड’क्टिव ऑ’र्गन है। वैज्ञा’निक मा’र्क श’र्ज क’हते हैं कि कु’छ जी’वों में रिप्रोड’क्टिव ऑ’र्गन उन’के श’रीर के अनु’पात में ब’ड़े हो’ते हैं। न’ए गिर’गिट के सा’थ भी ऐ’सा ही है।