Categories
News

मंदिर में चोरी करने आया यु’वक, वही करने लगा कुछ ऐसा काम, सुबह पुलिस ने देखा तो उड़ गए होश……😱

डेली न्यूज़

मंदि’र में चोरी की नी’यत से घुसे बद’माश ने मंदिर में रखा सा’मान एक थैले में बां’धा और वहीं सो गया. सुबह जब पुलि’स ने उसे उठा’या तो बद’माश कहने लगा कि ठंड लग रही है, सोने दो. सेवा’दार बताते हैं माता’जी का चम’त्कार है, इसलिए मं’दिर में चोरी की वार’दात नहीं होती है. यह घट’ना मध्‍य प्रदेश के शाजा’पुर जिले की है. 

शाजा’पुर के लाल’बाई फूल’बाई मंदिर पर चोर ने चोरी करने का प्र’यास किया. रात में चोर ने सेवा’दार के कमरे में रखे त्रि’शूल की मदद से ताला तोड़’कर कमरे में रखा सारा सा’मान एक बोरे में बांध लिया, जिसके बाद उस’की नींद लग गई.

सुबह जब मंदिर के सेवा’दार मंदिर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि मं’दिर में त्रिशू’ल नहीं है और पास वाले कमरे का ता’ला टूटा हुआ और दर’वाजा अंदर से बंद है.

मंदिर में चोरी कर वहीं सो गया चोर, सुबह पुलिस ने उठाया तो बोला- मुझे सोने दो, ठंड लग रही है..

इसकी सूच’ना उन्होंने डायल 100 को दी. खबर पाते ही पुलि‍’स मौके पर पहुंची और सेवा’दार के कमरे में अंदर से लगे दरवाजे को खुलवाने का प्रयास किया लेकिन बद’माश ने दर’वाजा नहीं खोला. इसके बाद पुलिस ने दर’वाजा तोड़ दिया. 

मंदिर में चोरी कर वहीं सो गया चोर, सुबह पुलिस ने उठाया तो बोला- मुझे सोने दो, ठंड लग रही है..

जैसे ही पुलिस सेवा’दार के कमरे में पहुं’ची तो पलंग पर एक व्य’क्ति सो रहा था. पुलिस ने उसे उठा’या तो वह कहने लगा कि ठंड ब’हुत है मुझे सोने दो.  पुलिस के अनु’सार मंदिर में चोरी की नीयत से उक्त व्यक्ति ने सा’मान बटोरा था लेकिन ठंड अधि’क होने के का’रण उसकी नींद वहीं पर लग गई. पुलिस का मा’नना है कि उक्त युवक मान’सिक रूप से विक्षि’प्त है इसलिए पुलिस ने पूछ’ताछ के बाद उक्त युव’क को छोड़ दिया.

मंदिर में चोरी कर वहीं सो गया चोर, सुबह पुलिस ने उठाया तो बोला- मुझे सोने दो, ठंड लग रही है..

सेवा’दार बताते हैं कि शाजा’पुर नगर के अति प्रा’चीन मंदिरों में शुमार लाल’बाई फूल’बाई मंदिर चम’त्कारों के लिए जाना जाता है. मंदिर के सेवा’दार मोहित राठौर बताते हैं कि मंदिर में इस’के पहले भी कई बार चोरी के प्र’यास हुए लेकिन कभी भी बद’माश मंदिर से चोरी करने में सफ’ल नहीं हुए. पूर्व में भी एक बद’माश ने मंदिर से तल’वार और घंटि’यां चोरी कर ली थीं, जो घटना के 2 दिन बाद वा’पस मंदिर परि’सर में ही मिली थीं.

इसी प्रकार बीती रात भी मं’दिर में चोरी का प्र’यास बद’माश द्वारा किया गया था. उसने चोरी की नी’यत से मंदिर का सारा सामान एक थैले में समेट’कर बांध लिया था लेकिन माता रानी का चम’त्कार है कि उसकी नींद लग गई जिससे वह चोरी के प्र’यास में अस’फल हो गया.