Categories
News

मथुरा में अब हिन्दू युवको ने मस्जिद में पढ़ी हनुमान चालीसा, पुलिस ने कहा ये…..

ब्रेकिंग न्यूज़

मथु’रा में पहले एक मंदि’र में दो मुस्लि’मों ने नमा’ज पढ़ी। अब चार हिं’दू युव’कों ने गोव’र्धन स्थित ईद’गाह में जाकर मंगल’वार को हनु’मान चाली’सा का पाठ किया है। माम’ले में पुलि’स ने चारों आरो’पियों को हिरा’सत में लेने के बाद शांति’भंग की धारा में चाला’न कर जेल भेज दिया है।

मथुरा
उत्तर प्र’देश के मथु’रा स्थित गोव’र्धन इलाके की ईद’गाह में चार युव’कों ने हनु’मान चाली’सा का पाठ किया। मंगल’वार सुबह किए गए इस हनु’मान चाली’सा पाठ का वी’डियो सो’शल मीडि’या पर वाय’रल हुआ तो पुलि’स ऐक्श’न में आई और तत्का’ल चारों युव’कों को हिरा’सत में ले लिया गया। बाद में युव’कों का शांति’भंग की धारा’ओं में चालान कर जेल भेज दिया गया।

जान’कारी के मुता’बिक, ईद’गाह में हनु’मान चाली’सा पढ़ने वाले युव’कों के नाम सौ’रभ लंबर’दार, राघव मित्तल, कान्हा और कृ’ष्णा ठाकुर हैं। ये सभी गोव’र्धन इलाके में ही रहते हैं। हालां’कि अभी तक इस मा’मले में किसी तरह की कोई तह’रीर नहीं दी गई है लेकिन सो’शल मीडि’या पर पोस्ट वाय’रल होने के बाद चारों को पुलि’स ने हिरा’सत में ले लिया। बाद में पुलि’स ने इनका शांति’भंग की धारा में चा’लान कर दिया। आरो’पियों का कहना है कि वे भाई’चारा बढ़ाने के लिए मस्जि’द में हनु’मान चाली’सा पढ़ने गए थे।

एसपी बोले- होगी सख्त कार्र’वाई
वरि’ष्ठ पुलि’स अधी’क्षक डॉ गौर’व ग्रोवर ने बता’या कि मथुरा जन’पद हिंदू-मुस्लिम सौ’हार्द के प्रतीक के रूप में जाना जाता है और ऐसे में किसी भी समु’दाय के व्यक्ति’यों को अमन की फिजा को बिगा’ड़ने की अनु’मति नहीं दी जा’एगी और ऐसे कार्य करने वालों के खिला’फ सख्त विधिक कार्र’वाई की जाएगी।

फैजल खान ने मंदिर में पढ़ी थी नमाज
आ’पको बता दें कि इससे पहले ब्रज चौरा’सी कोस यात्रा करते हुए दो मुस्लि’म युवकों द्वारा नंद’गांव स्थित नंद’बाबा मंदिर परि’सर में नमा’ज अदा करने के फोटो सोशल मीडि’या पर वाय’रल हुए थे। जिसके बाद यूपी पुलि’स ने दो लोगों को हिरा’सत में लिया था। हिरा’सत में लिए गए लोगों की पह’चान फै’जल खान और चांद मोह’म्मद के रूप में हुई थी।

सेवा’यत ने दर्ज कराई थी एफ’आईआर
मा’मले में मंदि’र के सेवा’यत गोस्वा’मी ने पुलि’स में शिका’यत दर्ज कराते हुए आ’रोप लगा’या था कि 29 अक्टू’बर को दोप’हर करी’ब साढ़े 12 बजे फै’जल खान और चांद मोह’म्मद जो दि’ल्ली के खुदाई खिदम’तगार संस्था के सदस्य हैं, इसी सं’स्था के आलोक रतन और नी’लेश गुप्ता के साथ आए। एफ’आई’आर में आ’रोप लगाया गया है कि मुस्लि’म युव’कों ने बिना अनु’मति लिए और जान’कारी के मंदि’र प्रां’गण में नमाज अदा की और नमा’ज पढ़ते हुए के अपने फोटो अपने साथि’यों से सो’शल मी’डिया पर वाय’रल कराए। इनके इस कृ’त्य से हि’न्दू समुदाय की भाव’नाएं आहत हुई हैं और आ’स्था को गहरी चोट पहुंची है। साथ ही एफ’आईआर में इनके किसी विदे’शी मुस्लि’म संग’ठन से जुड़े होने की सम्भा’वना भी व्यक्त की गई थी।