Categories
News

पिता के खि’लाफ शिका’यत दर्ज करानें 10 किमी पैदल चलकर DM के पास पहुंची मा’सूम, वजह जान कांप उठेंगें आप…..

खबरें

ओडिशा के केंद्रपाड़ा में एक छठवीं कक्षा में पढ़ने वाली एक मासू’म बच्ची अपने हक हेतु पिता के खि’ला’फ ही खड़ी हो गई। बच्ची अपने पिता की शि’का’यत करने हेतु घर से दस कि’लोमीटर पहाड़ी रास्ते की यात्रा पैदल तय करते हुए जि’लाधिका’री के का’र्याल’य तक पहुंची। उसने शि’का’यत द’र्ज कराई कि उसके पि’ता उसे ख’राब भोजन देते हैं। बच्ची ने बताया कि सर’कार से मिलने वाला रा’शन तथा धन वह रख लेते हैं।

 शि’काय’त आने के बाद कें’द्रपा’ड़ा के डीएम सा’मर्थ वर्मा ने अधि’कारि’यों को नि’र्देश दिए कि राज्य से मिलने वाले लाभ सीधे छात्रा के खाते में भेजे जाएं। आगे डी’एम ने कहा कि जो भी चावल और रुपये अब तक बच्ची के पिता को दिए गए हैं वह सब वापस लेकर ब’च्ची को दिए जाएं।

जब से लॉ’कडा’उन शुरू हुआ तब से स’रकार ने ब’च्चों को मिड डे मील मिलना बंद हो गया। बच्चों के खाते न होने पर उनके माता-पिता के अ’का’उंट में यह रक’म भेजी जा रही है। इसके अ’लावा हर बच्चे को रोज 150 ग्राम चाव’ल दिए जाते हैं।

बच्ची ने कहा कि उसका बैंक अकाउंट है, इसके बावजूद उसे मिलने वाले लाभ की रकम पिता के खाते में जाती है। उसने आगे बताया कि उसकी माता का दो साल पहले नि’धन हो गया था। पिता ने दूसरी शा’दी कर ली है और वह अपने मामा संग रहती है।