Categories
News

एक व्यक्ति ने पूंछा शादी के बाद किसी गैर मर्द या औरत से हम बिस्तर हो सकते है? तो मौलाना ने दिया कुछ ऐसा जवाब…

डेली खबर

मौलाना तारिक जमील साहब से किसी म’र्द ने पुछा की क्या हम शादी के बाद किसी गैर औरत के साथ हम बि’स्तर हो सकते है ,तो मौलाना तारिक जमील ने साफ मना किया कि हमे हमारा इस्लाम इन सब की इजाजत नही देता ,बल्कि बहुत बड़ा गुनाह भी माना जाता है,यहां तक आया कि की लड़की शादी के बाद किसी गैर मर्द से अगर हम बिस्तर हो जाये ,तो वो निकाह से भी बाहर हो सकती है।

अब इलाहा’बाद हाई’कोर्ट ने लिव-इन-रिलेशन को लेकर अहम फैसला सुनाया है। इला’हाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि शादी’शुदा महिला दूसरे पुरुष के साथ पति पत्नी की तरह रहती है तो इसे लिव-इन-रिलेशनशिप नहीं माना जा सकता। इलाहाबाद कोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि परमादेश विधिक अधि’कारों को लागू करने या संर’क्षण देने के लिए जारी किया जा सकता है।

किसी अपराधी को संर’क्षण देने के लिए नहीं। यदि अपराधी को संरक्षण देने का आदेश दिया तो यह अपरा’ध को संरक्षण देना होगा।दुरा’चार का अप’राध यह आदेश न्यायाधीश एस पी केशरवानी व डॉ. वाई के श्रीवास्तव की खंड’पीठ ने हाथरस निवासी आशा देवी व अरविंद की याचिका को खारिज करते हुए दिया है। हाईकोर्ट ने कहा कि यह लिव-इन-रिलेशनशिप नहीं है बल्कि दुराचार का अप’राध है।

इसके लिए पुरुष अपराधी है। याचि’काकर्ता आशा देवी की शादी महेश चंद्र के साथ हुई है। दोनों के बीच तलाक नहीं हुआ है, लेकिन वो अपने पति से अलग दूसरे पुरुष (अरविंद) के साथ पति-पत्नी की तरह रहती है। याचिका’कर्ता का कहना था कि वह दोनों लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे हैं। उन्हें उनके परिवार वालों से सुरक्षा प्रदान की जाए।शादी के बाद मुस्लिम लड़की हो या लड़का सभी को नाजा’यज है गैर लड़कि’यों से मिलना सही नही है।