Categories
Other

18 महीने जिंदा रहा बिना सिर वाला मुर्गा, मालिक को कर दिया था मालामाल

जरा सोचिये एक बार कि क्‍या कोई मुर्गा बिना सिर के एक पल भी जिंदा रह सकता है? आपका जवाब ना ही होगा, लेकिन हम आपको एक बात बता दें कि एक मुर्गा बिना सिर के 18 महीने तक जिंदा रहा. यह मामला अमेरिका के कोलोरडो का है, जहां यह मुर्गा इतने समय तक बिना सिर के जिंदा रहा.

ये बात है 10 सितंबर 1945 की, जब किसान लॉयड ओल्‍सन को भूख लगी और उसे चिकन खाने का मन हुआ और जल्‍दबाजी में लॉयड के हाथ उसके फार्म हाउस में माइक नामक मुर्गा हाथ लगा. जब वह करीब साढ़े पांच महीने के मुर्गा को काटने जा रहा था, छुरी मुर्गे के गर्दन से फिसल गई.

ऐसे में मुर्गा का एक कान के अलावा, गर्दन का बड़ा हिस्‍सा कट गया. ओल्‍सन को उस वक्‍त बड़ा आश्‍चर्य हुआ, जब उसने देखा कि इतना कटने के बाद भी मुर्गा आराम से चल रहा था. ऐसे में ओल्‍सन का दिल पिघल गया और उसने ‘माइक’ की देखभाल करनी शुरू की. वह उसे रोजाना दूध, अनाज और अन्‍य चीजें खिलाता था.

बिना सिर का ‘माइक’ आसपास के इलाकों में लोकप्रिय हो गया. लोग उसे देखने आने लगे. जो भी उसे देखते वो हैरान रह जाता. माइक अपने मालिक के लिए आमदनी का जरिया भी बन गया. माइक को देखने के लिए उसके मालिक ने फ़ीस रख दी जो 25 सेंट रखी गई.

बिना सिर वाला माइकइतना मशहूर हो गया कि वह रोजाना 4500 डॉलर (मौजूदा समय में 47,500 डॉलर) कमाने लगा. उस वक्‍त उसकी कीमत 10 हजार डॉलर से भी ज्‍यादा थी. 1949 में ‘माइक’ ने दुनिया को अलविदा कह दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.